image

इधर के दिनों में स्पेन के कातालोनिआ स्वायत्त क्षेत्र में बार बार हिंसक कार्यवाइयां होती रहीं, जो हांगकांग में हुई हिंसक कार्यवाइयों की जैसी हैं। लेकिन हांगकांग की हिसंक कार्यवाइयों का समर्थन करने वाली ब्रिटेन और अमेरिका की सरकारें खामोश रहीं। हांगकांग के हिंसकों का समर्थन करने वाली पश्चिमी मीडिया ने भी तुरंत चेहरा बदलकर इन स्पेन के हिंसकों की निंदा की और स्पेन सरकार से तुरंत कदम उठाकर हिंसक कार्यवाइयों को बंद करने की अपील भी की।

समान घटना हांगकांग में लोकतांत्रिक आंदोलन कही जाती है, जबकि स्पेन में हिंसक डांवाडोल कहा जाता है। पश्चिमी देशों ने इस तरह दोहरे मापदंड अपनाये हैं, जिससे यह जाहिर है कि उन की स्वतंत्रता व लोकतंत्र सिर्फ़ खुद के हितों के आधार पर रहा है। उन के लिए यदि खुद के हित में है तो समर्थन देंगे, नहीं तो वे विरोध करेंगे। यह पूरी तरह दोहरे मापदंड का प्रतिबिंब है।  

(साभार-चाइना रेडियो इंटरनेशनल, पेइचिंग)

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Note: Double standards also hurt oneself

More News From china

Next Stories
image

free stats