image

एशियाई सभ्यताओं का संवाद सम्मेलन (सीडीएसी) विभिन्न देशों के बीच अनुभवों के आदान-प्रदान का नवाचार है। अफ़गानिस्तान के सूचना और संस्कृति मंत्रालय के अधीन योजना और नीति विभाग के प्रधान अब्दुल मुकीम अफ़हान ने 17 मई को पेइचिंग में चाइना मीडिया ग्रुप के संवाददाता को दिए एक इन्टरव्यू में यह बात कही।

अफ़हान निमंत्रण पर सीडीएसी में भाग लेने पेइचिंग आए। उन्होंने 15 मई को आयोजित उद्घाटन समारोह में हिस्सा लिया और चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग द्वारा दिए गए“सभ्यताओं के आदान-प्रदान और आपसी सीख को गहराएं, एशियाई साझे भाग्य समुदाय की स्थापना की जाए”वाले थीम भाषण की प्रशंसा की।

अफ़हान ने कहा कि राष्ट्रपति ने अपने भाषण में देशों के बीच दूरी को कम करने के लिए महत्वपूर्ण और मूल्यवान अवधारणा पेश की और कूटनीतिक आवाजाही में सांस्कृतिक आदान-प्रदान की भूमिका पर बल दिया। राष्ट्रपति शी चिनफिंग के भाषण ने मुझ पर गहरी छाप छोड़ी। पहला, संस्कृति और सभ्यता के आदान-प्रदान से विभिन्न जातियों और विभिन्न देशों के बीच आवाजाही को आगे बढ़ाया जा सकता है, यह बहुत महत्वपूर्ण है। दूसरा, हम आदान-प्रदान और आपसी सीख से एक दूसरे के अनुभव, सूचना और फल को साझा कर सकते हैं, ताकि विभिन्न देशों, खास कर एशियाई देशों के बीच संबंध को घनिष्ठ किया जा सकेगा। मौजूदा सम्मेलन के आयोजन से हम विकसित देशों के प्रगतिशील अनुभव को ज्यादा समझेंगे और उनसे सीख सकेंगे। राष्ट्रपति शी चिनफिंग के भाषण ने विभिन्न देशों के आपस में आवाजाही को विस्तार करने की इच्छा व्यक्त की, जिसने विभिन्न देशों के बीच सांस्कृतिक आदान-प्रदान के लिए आधार तैयार हुआ। मुझे लगता है कि मौजूदा सीडीएसी एक सृजनात्मक सम्मेलन है, जिसने विभिन्न देशों के बीच अनुभवों के आदान-प्रदान के लिए अच्छा मौका मुहैया करवाया है।

(साभार---चाइना रेडियो इंटरनेशनल ,पेइचिंग)

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: CDAC is the innovation of exchanges of experiences between different countries

More News From china

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats