image

हाल में दक्षिण पश्चिमी चीन के सछ्वान प्रांत के आपा तिब्बती और छ्यांग जातीय स्वायत्त प्रिफेक्चर की श्याओचिन काउंटी में दूसरा किसान फसल दिवस और चौथा सेब तोड़ना उत्सव मनाए गए। इधर के सालों में श्याओचिन काउंटी कृषि, संस्कृति और पर्यटन का मिश्रित विकास वाली विचारधारा अपनाई गई, पर्यटन के जोरदार विकास से स्थानीय नागरिकों की आय में लगातार वृद्धि मिली।  

इस वर्ष सेब तोड़ना दिवस पर श्याओचिन काउंटी और थाईलैंड के फल व्यापारियों के बीच सहयोगी संधि पर हस्ताक्षर किए, जिसके तहत यहां उत्पादित श्याओचिन सेब थाईलैंड में निर्यातित किए जाएंगे। इससे कृषि उत्पादों की बिक्री को नया रास्ता मिला है। आने वाले दिनों में श्याओचिन सेब थाईलैंड के सबसे बड़े थोक बाज़ार में प्रवेश किए जाएंगे और तभी वह विश्व में प्रवेश करने वाला“समृधि का फल”बन जाएगा।

यहां बता दें कि श्याओचिन काउंटी का तिब्बती नाम चानला है, जो छिंगहाई तिब्बत पठार के पूर्वी भाग में और सछ्वान प्रांत के आपा तिब्बती और छ्यांग जातीय स्वायत्त प्रिफेक्चर के दक्षिण में स्थित है। इस काउंटी का इतिहास बहुत पुराना है, जहां संस्कृति और पर्यटन का संसाधन प्रचुर है। काउंटी में सुन्दर प्राकृतिक दृश्य, चीनी क्रांति से जुड़ी लाल संस्कृति, तिब्बती जातीय रीति रिवाज़ और पारिस्थितिक विशेष कृषि उत्पाद देश भर में सुप्रसिद्ध हैं।

(साभार---चाइना रेडियो इंटरनेशनल ,पेइचिंग)

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Apples from Tibetan-dominated counties made in Thailand "fruit of prosperity"

More News From china

Next Stories
image

free stats