image

दुबईः भीख मांग कर अपना जीवन गुज़र-बसर करने वाले लोगों से आप कभी ना कभी रूबरू जरूर हुए होंगे। बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, ट्रैफ़िक लाइट्स, रेस्टोरेंट्स के बाहर, ये कुछ ऐसी जगहें हैं जहां पर ऐसा कोई ना कोई अपना धंधा जमाकर बैठ चुका होता है। लेकिन बढ़ती टेक्नोलॉजी और सोशल मीडिया पर सोशल होते लोगों की वजह से अब भिखारियों ने भी अपना अड्डा चेंज कर लिया है। मामला संयुक्त राज्य अमीरात (UAE) का है जहां पर एक महिला को गिरफ़्तार किया गया है। इस महिला ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर खुद को बेसहारा, लाचार दिखाकर लोगों को ठगा है। 

मणिपुर के व्यक्ति ने कर दिखाया ऐसा काम कि फेसबुक ने इनाम में दिए 5000 डॉलर 

महिला पर आरोप है कि उसने खुद को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर एक असफल शादी का शिकार बताकर अपने बच्चों की परवरिश के लिए लोगों से मदद की अपील की और 50 हजार डॉलर (लगभग 35 लाख रुपये) जुटा लिये। दुबई पुलिस के अधिकारी ने कहा कि महिला ने फेसबुक, इंस्टाग्राम और ट्विटर पर अपनी पोस्ट के माध्यम से कई लोगों को ठगा और 17 दिनों में रकम जुटाई। खलीज टाइम्स ने दुबई पुलिस के आपराधिक जांच विभाग के निदेशक ब्रिगेडियर जमाल अल सलेम अल जल्लाफ के हवाले से कहा कि महिला ने ऑनलाइन अकाउंट बनाए और अपने बच्चों की तस्वीरों के माध्यम से उनकी परवरिश के लिए और उन पर होने वाले बढ़ते खर्चो के लिए आर्थिक मदद मांगी।

विराट कोहली के इस अंदाज की कायल हुई अनुष्का, दिल खोलकर बांधे तारीफ के पुल

ब्रिगेडियर अल जल्लाफ ने कहा, "वह लोगों को बता रही थी कि वह तलाकशुदा है और अपने बच्चों को खुद पाल रही है। लेकिन उसके पूर्व पति ने उन्हें (ई) अपराध मंच के माध्यम से सूचना दी और साबित किया कि बच्चे उनके साथ रह रहे हैं।"अधिकारी ने कहा, "कई दोस्तों और रिश्तेदारों के फोन आने के बाद पति को अहसास हुआ कि उसके बच्चों की तस्वीरों का इस्तेमाल भीख मांगने के लिए किया जा रहा है।" जल्लाफ ने कहा, "सोशल मीडिया पर अपने बच्चों को बदनाम कर और उन्हें बेइज्जत कर यह महिला 17 दिनों में 50 हजार डॉलर जुटाने में कामयाब रही।" 

World Cup: मैच के दौरान कोहली ने फैंस को डाटा, अब हो रही जमकर तारीफ, जानें क्या है पूरा मामला

ब्रिगेडियर अल जल्लाफ ने लोगों से सड़कों पर या सोशल मीडिया पर भिखारियों के साथ सहानुभूति नहीं रखने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि ऑनलाइन भीख मांगना अपराध है और दुबई पुलिस इन मामलों में कार्रवाई करती है। उन्होंने कहा कि भिखारी ऑनलाइन झूठ बोलकर लोगों की भावनाओं का दोहन करते हैं और उन्हें ठगते हैं।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Updated beggars, begging on social media, women earn 35 million

More News From technology

IPL 2019 News Update
free stats