image

पहले समय की बात करें य आज की ऐसा कोई लड़का नहीं है जिसे गलियां देना न आता हो जबकि वह ये बखूबी जानते है कि गलियां निकलना कितना गलत होता है और उसके लिए बहुत बार आपके घर के बड़े आपको डांट भी लगाते है। इसमें कोई शक नहीं है कि इससे आपकी इमेज ख़राब होती है लेकिन फिर भी लोग गाली देने से बाज़ नहीं आते। 

केमिकलयुक्त फेसवॉश से नहीं बल्कि इस नेचुरल तरीके से चमकाए चेहरा

ऐसा भी कहा जाता है कि, गाली देना अपने गुस्से को बाहर निकालने के लिए जरुरी होता है। इससे आप स्ट्रेस फ्री महसूस होते हैं। जो लोग अधिक गलियां देते हैं उनके बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं। गाली देने वाले कितने सही होते हैं और कैसे होते हैं आपको अभी पता चल जायेगा। दरअसल, एक रिसर्च में सामने आया है कि जिसे जितनी ज्यादा गालियां आती हैं, वह उतना अधिक दिमागदार यानी इंटेलीजेंट होता है। 

अपनी पसंदीदा जींस को पानी से धोने से पहले अवश्य जान लें ये जरूरी बात... 

दरअसल, न्यूयार्क स्थित मेरिस्ट नामक कॉलेज के रिसर्चर्स बताते है कि गालियों की जानकारी व्यक्ति की इंटेलीजेंस को दर्शाती है। गालियों के मामले में पुरुष और महिला का भेद नहीं होता। साथ ही ज्यादा गालियां देने की क्षमता महिलाओं की अक्लमंदी दर्शाती है। इसके बाद तो शायद आप भी गली देने लगेंगे लेकिन ये सही नहीं है।

यदि आपको भी है  हकलाहट की परेशानी तो ऐसे करें दूर

वैज्ञानिकों ने एक्सपेरिमेंट्स में देखा कि जो लोग एक मिनट में ज्यादा से ज्यादा गालियां उच्चारित कर सकते हैं। उनकी वोकैब्यलरी भी तेज होती है। यानी वे अन्य विषयों में भी ज्यादा शब्द जानते हैं। व्यक्ति को शब्दों की जानकारी होना उसके इंटेलीजेंट होने का सबूत होता है लेकिन इसका अर्थ ये नहीं है कि आप चाहे बस गलियां ही दिए जाए। कुछ लोग होते हैं जिनकी जुबान से गाली नहीं उतरती, पर ऐसा नहीं है कि आपको नहीं आती तो सीखने लगें। इंटेलीजेंट होने के और भी बहुत से तरिके है जरूरी नहीं कि आप इसी तरह किसी की आत्मा को ठेस पहुंचाकर ही खुद को इंटेलीजेंट प्रूफ करने लगे। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: study shows people who ABUSER oftenly are honest

More News From life-style

Next Stories

image
free stats