image

बैंकॉक: थाईलैंड में लोग सर्जरी के जरिए सिक्स पैक एब्स बनवा रहे हैं। ये ऐसे लोग हैं जो सिक्स पैक हासिल करने के लिए जमकर वर्कआऊट कर रहे थे, लेकिन उन्हें कामयाबी नहीं मिल पा रही थी। इस एब इंप्लांट सर्जरी के तहत पहले पेट के चारों ओर फैले वसा को हटाया जाता है ताकि सिक्स पैक बाहर आ सकें। थाई वैबसाइट कोकोनट्स के मुताबिक, यह विधि बेहद कारगर है। सर्जरी के बाद बॉडी एकदम नैचुरल नजर आती है। सिक्स पैक एब्स का असर भी लंबे समय तक बना रहता है। 

सिक्स पैक एब्स की सजर्री का दावा कर रहे बैंकॉक के इस अस्पताल का नाम मास्टरपीस है। यह ऐसा अस्पताल है जहां कॉस्मैटिक सर्जरी की जाती है। अस्पताल का दावा है कि सर्जरी में तीन से चार घंटे का समय लगता है। इस प्रक्रिया में सिलिकॉन इम्प्लांट नहीं किया जाता, क्योंकि सिलिकॉन लगाने के बाद बॉडी अच्छी नहीं दिखती। अस्पताल का कहना है कि सर्जरी में 2 लाख 60 हजार रुपए का खर्च आता है। 

मॉडल ने तस्वीरें शेयर की, तब ट्रैंड पता चला
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अब दुनिया के कई देशों में इस तरह की सर्जरी हो रही है, लेकिन इन्हें करवाने वाले अपनी पहचान छुपाए रखना चाहते हैं। थाईलैंड में यह मामला तब सामने आया, जब मॉडल ओमे पेंगपापर्ण ने सिक्स पैक एब्स सर्जरी करवाने के बाद सोशल मीडिया पर अपनी तस्वीरें पोस्ट कीं।

रिकवरी तकलीफदेह हो सकती है
अस्पताल का दावा है कि इस सर्जरी से शरीर को कोई नुक्सान नहीं होता। हालांकि, सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीरें बताती हैं कि सर्जरी के बाद रिकवरी की प्रक्रिया काफी दर्दभरी है। इसमें खून का नुक्सान भी होता है। एक स्टडी के मुताबिक, ऐसी सर्जरी कराने वाले हर 10 में से एक व्यक्ति के पेट के आसपास फ्लूड (तरल) जमा होने की शिकायत आती है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: People doing surgery for six pack abs in Thailand

More News From international

Next Stories
image

free stats