image

संयुक्त राष्ट्रः संयुक्त राष्ट्र के विशेषज्ञों ने आगाह किया है कि स्मार्टफोन में संगीत सुनने तथा लगातार तेज आवाज के संपर्क में रहने के कारण एक अरब से ज्यादा लोगों को कम सुनाई देने का खतरा है। संयुक्त राष्ट्र ने इस समस्या से निपटने के लिए नए दिशानिर्देश जारी किए हैं। तेज ध्वनि अथवा इससे जुड़ी अवस्थाओं जैसे ‘टिनिटस’ से सुनाई देने की क्षमता को नुकसान से बचने के लिए दिए गए सुझावों में व्यक्तिगत ऑडियो यंत्र के बेहतर काम करने पर ध्यान केन्द्रित करने को कहा गया है।

Read More  बड़गामाः सुरक्षाबलाें और आतंकवादियों के बीच हुई मुठभेड़, 2 आतंकी ढेर

Read More CAG की रिपोर्ट में झूठा साबित हुआ मोदी सरकार का दावा, कांग्रेस का भी सच आया सामने

तकनीक अधिकारी शैली चड्ढा कहती हैं कि एक अरब से अधिक लोगों को कम सुनाई देने का खतरा है और वह भी केवल उस चीज से जिसे वह सर्वाधिक पसंद करते हैं मसलन लगातार हेडफोन से संगीत सुनना। शैली बधिर होने और कम सुनाई देने जैसी समस्याओं को रोकने की दिशा में डब्ल्यूएचओ के लिए काम कर रहीं हैं। वह कहती हैं कि इस वक्त हमारे पास यह कहने के लिए कुछ भी ठोस नहीं है कि हम जो भी कर रहे हैं वह सही है या गलत या जो हम कर रहे है वह हमें आने वाले वर्षों में सुनने में दिक्कत पैदा करेगा।

Read More गवर्नर के काफिले पर हुआ हमला, 12 सैनिक घायल

Read More मुझसे नहीं, राहुल से है पीएम मोदी का मुकाबला : प्रियंका

यह केवल हमारी समझ पर निर्भर है। उन्होंने कहा कि हमने सुझाव दिया है कि स्मार्टफोन में एक स्पीडोमीटर लगा होना चाहिए, जिसमें एक मापन तंत्र होगा जो यह बताएगा कि आप कितनी तेज आवाज सुन रहे हैं। इसके अलावा अगर आप सीमा से अधिक तेज आवाज सुनेंगे तो यह आपको आगाह भी करेगा।

Read More ट्रंप रैली में कैमरामैन पर हुआ हमला, सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की मांग

Read More अमेरिकी टीवी होस्ट ने ‘10 सालों से नहीं धोया हाथ’ !

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: If You Are Also Listening To Music On Smartphone, Then Read This News First

More News From international

IPL 2019 News Update
free stats