image

नई दिल्ली. भारत में कंपनियों और पुनर्चक्रण कार्य से जुड़ी इकाइयों द्वारा 1,21,000 मीट्रिक टन प्लास्टिक कचरा बड़ी होशियारी से भारत आयात किया जा रहा है जिससे प्लास्टिक प्रदूषण को कम करने के प्रयास प्रभावित हो रहे हैं। एनजीओ ‘पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्मृति मंच’ द्वारा किए गए एक अध्ययन में यह बात कही गई है। अध्ययन के मुताबिक इसमें से भारत में 55 हजार मीट्रिक टन प्लास्टिक कचरा केवल पाकिस्तान और बांग्लादेश से आ रहा है। इसमें कहा गया है कि 55 हजार मीट्रिक टन कचरा पाकिस्तान और बांग्लादेश से संयुक्त रूप से आ रहा है। पश्चिम एशिया, यूरोप और अमेरिका सहित 25 से अधिक देशों से प्लास्टिक कचरे का आयात हो रहा है। अध्ययन के मुताबिक भारतीय पुनर्चक्रण इकाइयां और प्लास्टिक कंपनियां इस्तेमाल की गई पीईटी (पॉलीथिलीन टेरेप्थेलेट) प्लास्टिक बोतलों को बड़ी होशियारी से महीन कचरे के रूप में आयात कर रही हैं। वहीं, रोजाना पैदा हो रहे टनों प्लास्टिक कचरे का निस्तारण नहीं हो रहा है और यह सागरों तथा लैंडफिल में डंप किया जा रहा है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: 1,21,000 metric tons of plastic waste coming from abroad in India

More News From eknazar

Next Stories
image

free stats