image

मुंबई: खय्याम के नाम से मशहूर राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता संगीतकार मोहम्मद जाहिर हाशमी का अंतिम संस्कार मंगलवार शाम को पूर्ण राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा। उनके एक सहयोगी ने इसकी जानकारी दी। खय्याम के पार्थिव शरीर को जुहू में स्थित उनके आवास पर रखा गया है, ताकि लोग उनका आखिरी दर्शन कर उन्हें अपनी श्रद्धांजलि अर्पित कर सकें। 

खय्याम का निधन सोमवार देर रात को हुआ था। वह 92 वर्ष के थे, उनकी शवयात्र शाम चार बजे जुहू में दक्षिणा पार्क सोसायटी में स्थित उनके घर से शुरू होकर फोर बंग्लोज कर्बिस्तान पहुंचेगी। सहयोगी के मुताबिक, उनका अंतिम संस्कार शाम 4: 30 बजे किया जाएगा और उन्हें गन सैल्यूट सहित पूर्ण राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी जाएगी। उनके निधन पर कई जानी-मानी हस्तियों ने शोक व्यक्त किया है।

 

 

मशहूर गायिका और भारत रत्न से सम्मानित लता मंगेशकर ने उनके निधन पर कहा कि खय्याम साहब मुझे अपनी बहन मानते थे। वो मेरे लिए अपनी खास पसंद के गाने बनाते थे। उनके साथ काम करते हुए बहुत अच्छा लगता था और डर भी लगता था क्योंकि वो बड़े परफेक्‍शनिस्‍ट थे। उनकी शायरी की समझ बहुत कमाल थी।


उन्होनें आगे लिखा कि इसलिए मिर तकी मिर जैसे महान शायर की शायरी उन्होनें फिल्मों में लाई। 'दिखाई दिए यूं' जैसी खुबसुरत गजल हो या 'अपने आप रातों में' जैसे गीत, खय्याम साहब का संगीत हमेशा दिल को छू जाता था। राग पहाड़ी उनका पसंदीदा राग था।

लता मंगेशकर ने कहा कि ऐसी ना जाने कितनी बातें याद आ रही है। वो गाने वो रिकार्डिंग्स याद आ रही है। ऐसा संगीत शायद फिर कभी ना होगा। मैं उनको और उनके संगीत को वंदन करती हूं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उनके निधन पर शोक व्यक्त किया। प्रधानमंत्री ने ट्विट करते हुए लिखा कि सुप्रसिद्ध संगीतकार खय्याम साहब के निधन से अत्यंत दुख हुआ है। उन्होंने अपनी यादगार धुनों से अनगिनत गीतों को अमर बना दिया। उनके अप्रतिम योगदान के लिए फिल्म और कला जगत हमेशा उनका ऋणी रहेगा। दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके चाहने वालों के साथ हैं।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Music composer khayyam passes away at 92

More News From entertainment

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats