image

मुंबई: हिंदी फिल्मों के अभिनेता अमिताभ बच्चन को नियमित जांच के लिए इस सप्ताह मुंबई के नानावती अस्पताल में भर्ती कराया गया और उन्हें एक या दो दिन में अस्पताल से छुट्टी मिल जाएगी। अस्पताल के सूत्रों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। बच्चन के लीवर की समस्या से पीड़ित होने की खबरें चल रही हैं लेकिन सूत्रों ने दावा किया कि इसमें कोई सच्चाई नहीं है। बच्चन 11 अक्टूबर को 77 वर्ष के हुए हैं। अस्पताल के एक सूत्र ने बताया, ‘‘बच्चन नियमित जांच के लिए मंगलवार को अस्पताल आए थे। लीवर समस्या तथा इस संबंध में चल रही अन्य खबरें सच नहीं हैं। वह तंदुरुस्त और जोश में हैं। उन्हें एक या दो दिन में अस्पताल से छुट्टी मिल जाएगी।

परिवार ने निजता बरतने का अनुरोध किया है और हम उम्मीद करते हैं कि यह बरकरार रहेगी।’’ स्वास्थ्य जांच की प्रकृति के बारे में पूछे जाने पर सूत्र ने बताने से इनकार कर दिया। अभिनेता अभी ‘‘कौन बनेगा करोड़पति’’ कार्यक्रम की मेजबानी कर रहे हैं जो सोनी एंटरटेनमेंट चैनल पर प्रसारित होता है। सोनी के एक अधिकारी ने बताया, ‘‘उन्होंने पहले ही कुछ एपिसोड्स की शूटिंग कर ली है और हमारे पास प्रसारित करने के लिए एपिसोड्स तैयार हैं। हालांकि वह शूटिंग के लिए नहीं आए। वह मंगलवार से शूटिंग शुरू करेंगे।’’ इसके अलावा ‘बिग बी’ ‘‘गुलाबो सिताबो’’, ‘‘ब्रह्मा’’, ‘‘चेहरे’’ और ‘‘झुंड’’ फिल्में कर रहे हैं।

बच्चन का स्वास्थ्य वर्षों से चिंता का सबब बना रहा है। 1982 में वह ‘‘कुली’’ फिल्म की शूटिंग के दौरान गंभीर रूप से घायल हो गए थे और उनकी जान पर बन आयी थी। पिछले साल फरवरी में उन्हें कमर के निचले हिस्से और गर्दन में दर्द के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था और मार्च में वह जोधपुर में ‘‘ठग्स ऑफ हिंदुस्तान ’’ की शूटिंगकरते हुए बीमार पड़ गए थे। वह 2015 में एक कार्यक्रम में ‘‘कुली’’ और उसके बाद लगी अपनी चोटों के बारे में बात कर चुके हैं। उन्होंने बताया था, ‘‘मुझे खून देने वाले एक व्यक्ति को हेपेटाइटिस बी वायरस था जो मेरे शरीर में चला गया।

मेरा शरीर साल 2000 तक सामान्य रूप से काम कर रहा था और दुर्घटना के करीब 18 साल बाद तक भी, लेकिन एक सामान्य मेडिकल जांच के दौरान मुझे बताया गया कि मेरे लीवर में संक्रमण है और मैंने अपना तकरीबन 75 प्रतिशत लीवर खो दिया है।’’ अभिनेता ने बताया, ‘‘मेरे शरीर में वायरस था जिसने 18 वर्षों तक मेरे लीवर को धीरे-धीरे नष्ट किया, इसके बाद मैंने इलाज शुरू किया और आज तक भी मैं दवाई ले रहा हूं। अगर आज मैं यहां खड़ा हूं तो आप ऐसे व्यक्ति को देख रहे हैं जिसका महज 25 प्रतिशत लीवर बचा है। यह काफी बुरी बात है। अच्छी बात यह है कि आप 12 प्रतिशत लीवर के साथ भी जिंदा रह सकते हो लेकिन कोई भी इस स्थिति में पहुंचना नहीं चाहेगा।’’ साल 2005 में बच्चन की लीलावती अस्पताल में आंत संबंधी सजर्री हुई थी।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Amitabh Bachchan can be discharged from hospital in a couple of days

More News From entertainment

Next Stories
image

free stats