image

सभी मंदिरों और घरों में लोग भगवान की पूजा के समय में शंख बजाते हैं। शंख सभी पवित्र चीजों में एक हैं जो भगवान की पूजा में शामिल होते हैं। कहते हैं जिस घर में शंख बजता है वहां का वातावरण शुद्ध और पवित्र हो जाता है साथ ही भगवान का आशीर्वाद भी हम पर रहता है। समुद्र मंथन के दौरान मिले 14 रत्नों में से छठवां रत्न शंख था। शास्त्रों मे इसे घर में रखने से नकरात्मक ऊर्जा नहीं आती। हिन्दू धर्म में मांगलिक कार्यो, विवाह, धार्मिक अनुष्ठानों और रोजाना पूजा-पाठ में शंख बजाया जाता है। इसे बजाने से शरीर में ऊर्जा का संचार होता है। आज हम आपको शंख के धार्मिक फायदों के अलावा वैज्ञानिक फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं। 

-शंख बजाने से निकलने वाली ओम का नाद मानसिक रोगों को दूर करता है और शंखनाद से शरीर और आस-पास के वातावरण शुद्ध होता है।

- शंख में रखें पानी के सेवन करने से हड्डियों को मजबूत बनती है। शंख में कैल्शियम, गंधक और फास्फोरस काफी मात्रा में पाए जाते है जो दांतो के लिए भी फायदेमंद है।

- रात को शंख में पानी भर कर रख दें और सुबह इस पानी से स्किन की मसाज करें जो स्किन प्रॉब्लम के लिए शंख का पानी बहुत फायदेमंद होता है। 

- शास्त्रों के अनुसार शाम की आरती के बाद शंख नहीं बजाना चाहिए। इससे आर्थिक नुकसान होता है।

- रोजाना शंख बजाने से फेफड़ों से संबंधित रोग दूर होते है। साथ ही इससे दमा, कास प्लीहा, यकृत जैसे रोग दूर होता है।

- महिलाओं को गर्भावस्था के दौरन शंख नहीं बजाना चाहिए। शंख बजाने से गर्भ पर दबाव पड़ता है। बच्चों के बोलने की समस्या है तो बच्चे को शंख में पानी भरकर पिलाना फायदेमंद होता है।
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: how to beneficial conch for health

More News From dharam

free stats