image

बुधवार का दिन भगवान गणेश जी की पूजा के लिए बहुत महत्व रखता है, जिससे सभी भक्तों पर भगवान गणेश जी की कृपादृष्टि बनी रहती है। किसी भी शुभ कार्य को करने से पहले भगवान गणेश जी की पूजा की जाती है जिससे शुभ कार्य में आ रही सभी बाधाएं दूर होती है। भगवान गणेश भक्तों पर प्रसन्न होकर दुखों को हरते हैं अौर भक्तों की सारी मनोकामनाएं पूर्ण करते हैं। कोई भी शुभ कार्य करने से पूर्व श्रीगणेश जी की पूजा की जाती है। आइये जानते हैं गणेश जी की पूजा करने की विधि। 

पूजा विधि-
- प्रातः काल स्नान ध्यान आदि से सुद्ध होकर सर्व प्रथम ताम्र पत्र के श्री गणेश यन्त्र को साफ़ मिट्टी, नमक, निम्बू  से अच्छे से साफ़ किया जाए।  पूजा स्थल पर पूर्व या उत्तर दिशा की और मुख कर के आसान पर विराजमान हो कर सामने श्री गणेश यन्त्र की स्थापना करें। 

- शुद्ध आसन में बैठकर सभी पूजन सामग्री को एकत्रित कर पुष्प, धूप, दीप, कपूर, रोली, मौली लाल, चंदन, मोदक आदि गणेश भगवान को समर्पित कर, इनकी आरती की जाती है।

READ MORE: अंकज्योतिष: आज इस अंक के जातकों की लवलाइफ में आएगी मधुरता, हर कार्य में मिलेगी सफलता

READ MORE: राशिफल: आज इन राशियों का दिन आत्मविश्वास से रहेगा भरपूर, नकारात्मक लोगों से रहें दूर

READ MORE: हुक्मनामा श्री हरिमंदिर साहिब जी 11 सितंबर 

- अंत में भगवान गणेश जी का स्मरण कर ॐ गं गणपतये नमः का 108 नाम मंत्र का जाप करना चाहिए।

दूर होगी हर परेशानी-
- बुधवार के दिन किसी हाथी को हरा चारा खिलाएं और गणेश मंदिर जाकर भगवान श्रीगणेश से परेशानियों का निदान करने के लिए प्रार्थना करें। इससे आपके जीवन की परेशानियां कुछ ही दिनों में दूर हो जाएंगी। 

- यदि किसी युवक के विवाह में परेशानियां आ रही हैं तो वह भगवान श्रीगणेश को पीले रंग की मिठाई का भोग लगाएं तो उसका विवाह भी जल्दी हो जाता है।

- बुधवार के दिन घर में सफेद रंग के गणपति की स्थापना करने से समस्त प्रकार की तंत्र शक्ति का नाश होता है।

- यदि किसी कन्या का विवाह नहीं हो पा रहा है तो वह कन्या बुधवार को विवाह की कामना से भगवान श्रीगणेश को मालपुए का भोग लगाए तो शीघ्र ही उसका विवाह हो जाता है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: wednesday measures

More News From dharam

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats