image

वास्तुशास्त्र का हमारे रोजमर्रा के जीवन में बहुत महत्व होता है और सभी घर की सुख-शांति के लिए वास्तु नियमों का पालन करते हैं जिससे सभी संकटों से आपको मुक्ति मिलती है। घर में हर चीज को वास्तु नियमों के अनुसार कामों को करने से भगवान का आशीर्वाद बना रहता है। आज हम आपको कुछ ऐसे ही वास्तु नियमों के बारे में बताने जा रहे हैं-

- वास्तु शास्त्र में पूर्व व उत्तर दिशाएं काफी महत्वपूर्ण मानी जाती हैं, क्योंकि सूर्योदय पूर्व से होता है और लाभकारी चुंबकीय तरंगों का आगमन उत्तर से होता है। विद्य‍ार्थियों के लिए पूर्व, उत्तर या उत्तर-पूर्व की ओर मुख करके अध्ययन करना लाभकारी रहता है। 

- बच्चों के पढ़ाई का कमरा घर के पूर्व, उत्तर या उत्तर-पूर्व में होना चाहिए तथा यह ध्यान रखना चाहिए कि उसमें कोई खंभा न हो।

- स्टडी टेबल पर या सामने के दर्पण आदि लगाने से बचना चाहिए। टेबल पर जरूरी सामान ही रखें।

READ MORE: इस दिन पड़ रही है हरतालिका तीज, ऐसे करें व्रत और पूजा

READ MORE: भूल से भी ना करें आज ये गलतियां वरना सूर्यदेव का होगा प्रकोप, जानिए क्या

- पुस्तकें, कॉपियां आदि कमरे के दक्षिण, पश्चिम या दक्षिण-पश्चिम ओर में रखना चाहिए और उन्हें रखने की अलमारी के शेल्‍फ खुले नहीं होना चाहिए। यह एकाग्रता में कमी लाता है।

- अध्ययन के वक्त मुख को पश्चिम व उत्तर दिशा की ओर भी रखा जा सकता है, मगर इन दिशाओं में अध्ययन का फल अच्‍छा नहीं मिलता।

- अध्ययन के वक्त‍ दक्षिण की ओर मुख करने से बचना चाहिए, क्योंकि इससे उनमें अग्नि तत्व की प्रधानता हो जाती है जिससे वह उद्दंड व अनुशासनहीन हो सकता है।

READ MORE: अंकज्योतिष: इस अंक के जातक आज कोई भी निर्णय दिल से नहीं दिमाग से लें, वरना होगा नुक्सान

READ MORE: पंचांग और शुभ मुहूर्त 25 अगस्त

READ MORE: राशिफल: आज इन राशियों को कारोबार में होगा लाभ, पार्टनरों का मिलेगा सहयोग

READ MORE: हुक्मनामा श्री हरिमंदिर साहिब जी 25 अगस्त

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: vastu tips for study room

More News From dharam

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats