image

हफ्ते के सभी दिन भगवान की कृपा प्राप्त करने के लिए शुभ माना जाता है। हर कोई भगवान की कृपा प्राप्त करने के लिए अलग-अलग विधि से पूजा-पाठ करने से हर क्षेत्र में सफलताएं प्राप्त होता है और हर संकट से मुक्त होते है। इसी तरह शनिवार के दिन शनिदेव की पूजा का विशेष दिन है आज हम आपको शनिदेव को प्रसन्न करने के कुछ आसान उपाय बताने जा रहे हैं-

शास्‍त्रों के मुताबिक शनिदेव सूर्य देव और देवी छाया के पुत्र हैं। इनका जन्म ज्येष्ठ मास की अमावस्या हुआ था। शुद्ध मन से प्रत्‍येक शनिवार को व्रत रखने से शनि अत्‍यंत प्रसन्‍न होते हैं। ऐसा करने वालों पर उनकी कुपित दृष्‍टि नहीं पड़ती। शास्त्रों में शनिदेव की पूजा के दो प्रकार बताए गए हैं।

पूजा विधि-
- हर शनिवार मंदिर में सरसों के तेल का दीया जलाएं। ध्यान रखें कि यह दीया उनकी मूर्ति के आगे नहीं बल्कि मंदिर में रखी उनकी शिला के सामने जलाएं और रखें।

- अगर आस-पास शनि मंदिर ना हो तो पीपल के पेड़ के आगे तेल का दीया जलाएं। अगर वो भी ना हो तो सरसों का तेल गरीब को दान करें।

- शनिदेव को तेल के साथ ही तिल, काली उदड़ या कोई काली वस्तु भी भेंट करें।

- भेंट के बाद शनि मंत्र या फिर शनि चालीसा का जाप करे.

- शनि पूजा के बाद हनुमान जी की पूजा करें। उनकी मूर्ति पर सिन्दूर लगाएं और केला अर्पित करें।

- शनिदेव की पूजा के दौरान इस मंत्र का जाप करें: ॐ प्रां प्रीं प्रौं स: शनैश्चराय नम:

- शुद्ध स्नान करके पुरुष पूजा कर सकते हैं।

- अगर आपकी राशि में शनि आ रहा है तो शनि को अवश्य पूजें।

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: saturday measures

More News From dharam

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats