image

ज्योतिषशास्त्र का हमारे भविष्य में बहुत महत्व होता है। ज्योतिषशास्त्र में हस्तरेखाशास्त्र का भी अपना बहुत महत्व होता है जिससे भविष्य में होने वाली हर घटना के बारे में हथेली की रेखाओं से जान सकते हैं। हस्तरेखा ज्योतिष में किसी व्यक्ति का भाग्य कैसा है और आने वाले समय में उसका भाग्य किस दिशा में सफलता दिलाएगा यह हथेली में बनी भाग्य रेखा के आधार पर तय होता है। भाग्य रेखा के आकार से यह जाना जा सकता है कि वह व्यापार करेगा या नौकरी।

- ऐसी रेखा जो मणिबंध से आरंभ होकर सीधे शनि पर्वत पर जाकर मिलती है उसे भाग्य रेखा कहते हैं। अगर यह भाग्य रेखा मणिबंध से आरंभ होकर मध्यमा अंगुली के नीचे बने शनि पर्वत तक जा मिले तो यह बहुत ही शुभ होती है।

- अगर भाग्यरेखा मणिबंध से शुरू होकर बिना कटे हुए एकदम सीधे शनि पर्वत पर जाकर मिलती हो तो व्यक्ति का जीवन सुख और ऐशोआराम के साथ बीतता है।

READ MORE: Ganesh Chaturthi 2019: जानिए गजानन के धूम्रकेतु स्वरुप का महत्व, कलयुग में होगा पाप का नाश

READ MORE: उपाय: रविवार के दिन सूर्य के इन मंत्रों का करे जाप, हर संकट से होगी रक्षा

READ MORE: अंकराशिफल: आज इस अंक के जातकों को बड़े अफसरों से मिलेगी प्रशंसा, बढ़ेगा मान-सम्मान

- अगर यही रेखा शनि पर्वत पर पहुंचकर दो भागो में बंट जाए तो और एक हिस्सा गुरु पर्वत पर जाकर मिले तो उस व्यक्ति को मान-सम्मान और उच्च पद हासिल होता है।

- भाग्य रेखा जितनी गहरी और लंबी होती है उस व्यक्ति का भाग्य उतना ही अच्छा होता है।

- हथेली पर अगर भाग्य रेखा के साथ शनि पर्वत उठा हुआ हो तो व्यक्ति के पास धन-दौलत की कोई कमी नहीं होती है।


 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: palmistry signs

More News From dharam

Next Stories
image

free stats