image

भारत के हर राज्य और शहर में त्योहार मनाए जाते हैं जिनका अपना-अपना खास स्थान होता है। जहां हर पर्व का अपना-अपना खास स्थान होता है। इसी तरह दक्षिण भारत में भी हर त्योहार और पर्व को धूम-धाम से मनाया जाता है। इसी तरह दक्षिण भारत के केरल राज्य में ओणम का खास पर्व मनाया जाता है, जिसे यहां के लोग बड़े धूम-धाम से मनाते हैं। ओणम को खासतौर पर खेतों में फसल की अच्छी उपज के लिए मनाया जाता है। 1 सितंबर से शुरू हुआ यह त्योहार 13 सितंबर तक मनाया जाएगा। ओणम इसलिए भी विशेष है क्योंकि इसकी पूजा मंदिर में नहीं बल्कि घर में की जाती है।

READ MORE: उपाय: आज बुधवार के दिन भगवान गणेश जी की ऐसे करें पूजा, दूर होंगी विवाह संबंधी सभी परेशानियां

पौराणिक मान्यता-
ओणम को मनाने के पीछे एक पौराणिक मान्यता है। कहा जाता है कि केरल में महाबली नाम का एक असुर राजा था। उसके आदर सत्कार में ही ओणम त्योहार मनाया जाता है। ओणम पर्व का खेती और किसानों से गहरा संबंध है। किसान अपने फसलों की सुरक्षा और अच्छी उपज के लिए श्रावण देवता और पुष्पदेवी की आराधना करते हैं। फसल पकने की खुशी लोगों के मन में एक नई उम्मीद और विश्वास जगाती है।

READ MORE: अंकज्योतिष: आज इस अंक के जातकों की लवलाइफ में आएगी मधुरता, हर कार्य में मिलेगी सफलता

ओणम पर्व विशेष: जानिए कैसे मनाएं यह पर्व-
सदियों से ऐसी मान्यता चली आ रही है कि ओणम के दिन राजा बलि अपनी प्रजा से मिलने आते हैं, इसी खुशी में मलयाली समाज ओणम मनाता है। इसी के साथ ओणम नई फसल के आने की खुशी में भी मनाया जाता है। इस अवसर पर केरल के पारंपरिक लोकनृत्य शेर नृत्य, कुचिपुड़ी, गजनृत् आदि के साथ यह दिन बड़ें ही उत्साह से मनाया जाता है।

READ MORE: राशिफल: आज इन राशियों का दिन आत्मविश्वास से रहेगा भरपूर, नकारात्मक लोगों से रहें दूर

READ MORE: हुक्मनामा श्री हरिमंदिर साहिब जी 11 सितंबर 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Onam 2019

More News From dharam

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats