image

समय-समय पर सूर्य अपनी चाल बदलता रहता है जिसका 12 राशियों पर बराबर असर पड़ता है। इस तरह हर साल अश्विन माह के कृष्ण पक्ष की तृतीया तिथि के दिन कन्या संक्रांति मनाई जाती है, बता दें इस दिन सूर्य राशि परिवर्तन करता है और कन्या राशि में प्रवेश करता है, जिस कारण इसे कन्या संक्रांति के नाम से जाना जाता है। आज सूर्य कन्या राशि में गोचर करेंगे जिससे सभी राशियां प्रभावित होंगी। संक्रांति का पुण्यकाल बेहद विशेष माना जाता है। सूर्य की कन्या संक्रांति में पुण्यकाल सूर्योदय से संक्रांति यानि दोपहर 01 बजकर 03 मिनट तक है। पुण्यकाल में पवित्र नदियों में स्नान का विशेष महत्व है। सूर्य के इस गोचर का सिर्फ कन्या राशि पर ही नहीं बल्कि हर राशि पर कुछ ना कुछ प्रभाव जरूर पड़ेगा। जानें अपनी राशि का हाल।

मेष राशि- सूर्य का इस राशि की कुंडली में छठें भाव में गोचर हुआ है। कुंडली में सूर्य शुभ घर का मालिक है। इस भाव में सूर्य का गोचर आपके लिए शुभ फल देनेवाला साबित होगा। आपके मित्रों की संख्या में बढ़ोतरी होने की पूरी संभावना है। आप आने वाले समय में अपने दोस्तों के साथ अच्छा समय व्यतीत करेंगे, उनका सहयोग हर जगह आपको मिलता रहेगा। 

वृष राशि-इस राशि की कुंडली में पांचवे भाव में सूर्य का गोचर हुआ है। इस भाव में सूर्य का गोचर शुभ फल देने वाला है। पांचवां भाव संतान, विद्या व विवेकसे जुड़ा होता है। लिहाज़ा सूर्य के इस भाव में गोचर से आपको संतान की तरफ से कोई शुभ समाचार प्राप्त हो सकता है। इस राशि के छात्रों के लिए भी ये गोचर शुभ फल देने वाला साबित होगा।

मिथुन राशि- इस राशि की कुंडली में चौथे भाव में सूर्य़ का गोचर हुआ है। आपकी कुंडली में सूर्य अकारक है। लिहाज़ा इस गोचर के दौरान आप अपनी माता की सेहत का खासतौर से ध्यान रखें। उनके खाने-पीने पर विशेष ध्यान दें। इसके अलावा आप प्रोपर्टी के लेन देन को लेकर भी कोई फैसला ले सकते हैं। इस तरह की संभावनाएं बन रही है। 

कर्क राशि- इस राशि की कुंडली में तीसरे भाव में गोचर हुआ है। आपकी कुंडली में सूर्य प्रबल मारकेश है। सूर्य के इस गोचर में आपको अपने भाई-बहनों का सहयोग प्राप्त करने के लिए अतिरिक्त मेहनत करनी होगी। आपको अपने भाई बहनों के साथ किसी भी तरह के वाद विवाद से बचना चाहिए। 

सिंह राशि- इस राशि की कुंडली में दूसरे भाव में सूर्य का गोचर हुआ है। आपकी कुंडली में सूर्य शुभ घर का मालिक हैं। लिहाज़ा सूर्यदेव के इस भाव में गोचर से आपको शुभ फलों की ही प्राप्ति होगी। आपकी धन संपत्ति बढ़ने के योग बन रहे हैं और धन संबंधी फायदा होने की पूरी संभावना है। इसके साथ ही घर परिवार में भी सुखद माहौल बना रहेगा। 

READ MORE: Vishwakarma Puja 2019: आज ऐसे करें दुनिया के पहले शिल्पकार भगवान विश्वकर्मा जी की पूजा, ये है पूजा विधि

READ MORE: उपाय: बजरंगबली को करना है प्रसन्न तो गंगाजल से करें ये काम, आर्थिक कष्टों से मिलती है मुक्ति

READ MORE: अंकज्योतिष: आज भूल से भी इस अंक के जातक ना लें बड़े फैसले, बिगड़ सकती है आर्थिक स्थिति

कन्या राशि- इस राशि की कुंडली में गोचर हुआ है यानि सूर्यदेव ने आपके पहले भाव में गोचर किया है जिसे लग्न भाव भी कहा जाता है। आपकी जन्मपत्रिका में सूर्य अशुभ घर का मालिक है। जन्मपत्रिका में पहला भाव जातक के शरीर, शारीरिक रंग रूप व व्यक्तित्व के बारे में जानकारी देता है। लिहाज़ा सूर्य के इस गोचर के दौरान आपको अपने भीतर ऊर्जा की थोड़ी कमी महसूस हो सकती है।

तुला राशि- इस राशि की कुंडली में बारहवें भाव में सूर्य का गोचर हुआ है। आपकी कुंडली में सूर्य अकारक है। बारहवां घर व्यय भाव के नाम से भी जाना जाता है। आपकीजन्मपत्रिका में सूर्य के बारहवें भाव में गोचर से आपके खर्चों में वृद्धि की संभावना है। लिहाज़ा ध्यान रखें कि फिजूलखर्ची ना हो। इस दौरान आप अपने जीवनसाथी के साथ क्वालिटी टाइम स्पेंड करेंगे जिससे आपके रिश्ते में और मजबूती आएगी। 

वृश्चिक राशि- इस राशि की कुंडली में ग्यारहवें भाव में सूर्य का गोचर हुआ है। आपकी कुंडली के इस भाव में सूर्य के इस गोचर से आपको अच्छे फल प्राप्त होंगे। इससे आपकी आमदनी में बढ़ोतरी होने की संभावना है। आपके आय के स्त्रोत और मजबूत होंगे जिससे आपकी आर्थिक स्थिति और सुदृढ़ होगी। वहीं इस दौरान आपको कोई बड़ी उपलब्धि हाथ लग सकती है। 

धनु राशि- इस राशि की कुंडली में दसवें भाव में गोचर हुआ है। आपकी कुंडली में सूर्य शुभ है लिहाज़ा इस गोचर से आपको शुभ फल ही प्राप्त होंगे। आपको कार्यक्षेत्र में कोई बड़ी सफलता हाथ लग सकती है। अगर आप बेरोज़गार हैं और नौकरी की तलाश काफी समय से चल रही है तो अगले 30 दिनों के भीतर आपको नौकरी मिलने की पूरी संभावना है। वहीं पिता के साथ रिश्ते और मजबूत होंगे। 

मकर राशि- इस राशि की कुंडली में नौवें भाव में गोचर हुआ है। सूर्य आपकी कुंडली में अशुभ घर का मालिक है। सूर्य के इस गोचर में आपको ज्यादा मेहनत करनी होगी। मेहनत का फल आपको जरूर मिलेगा। लिहाज़ा खुद को ऊर्जावान बनाए रखें और हर फैसला सोच समझ कर करें। आपको फायदा मिलेगा। 

कुंभ राशि- इस राशि की कुंडली में आठवें भाव में सूर्य का गोचर हुआ है। सूर्य आपकी कुंडली  में मारकेश है। आठवां घर आपकी आयु, जीवनकाल व घटने वाली घटनाओं के बारे में जानकारी देता है। सूर्य का ये गोचर आपके लिए सामान्य रहेगा। आपको अपनी सेहत के प्रति थोड़ा सचेत रहने की आवश्यक्ता है। शुभ फल मिलते रहेंगे। 

मीन राशि- इस राशि की कुंडली में सातवें भाव में गोचर हुआ है। आपकी कुंडली में सूर्य अकारक है। सप्तम भाव आपकी कुंडली में जीवनसाथी की स्थिति को स्पष्ट करता है। लिहाज़ा इस गोचर के दौरान आप अपने जीवनसाथी के साथ कहीं बाहर घूमने जाने का प्लान बना सकते हैं। 

READ MORE: भगवान इंद्र से मिला महिलाओं को यह श्राप ही बनाता है उनके जीवन को खुशहाल, जाने यह पूरा रहस्य 

READ MORE: राशिफल: आज इस राशि के जातक नकारात्मक विचारों से रहे दूर, स्वास्थ्य हो सकता है खराब

READ MORE: पंचांग और शुभ मुहूर्त 17 सितंबर

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Kanya Sankranti 2019

More News From dharam

Next Stories
image

free stats