image

हर कोई शनिदेव को प्रसन्न करने की सोचता है जिसके लिए कई उपायों को भी करते हैं। सभी जानते हैं कि जिस व्यक्ति पर शनिदेव की कुदृष्टि पड़ती है उसके जीवन में परेशानियां पैदा हो जाती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि शनि कू नजर को बुरा क्यों माना जाता है।

ब्रह्मपुराण की कथा के अनुसार बचपन से ही शनि देव भगवान श्रीकृष्ण के भक्त थे। वो हमेशा श्रीकृष्ण की भक्ति में लीन रहते थे वयस्क होने पर शनिदेव के पिता ने चित्ररथ की कन्या से उनका विवाह करा दिया शनिदेव की पत्नी सती-साध्वी और परम तेजस्विनी थी एक रात वो ऋतुस्नान करके पुत्र पाने की इच्छा से शनिदेव के पास पहुंची।

लेकिन शनिदेव श्रीकृष्ण के ध्यान में इस कदर खोये थे की उन्हें इस संसार की कोई सुध नहीं थी इसलिए शनिदेव की नजर अपनी पत्नी पर नहीं पड़ी शनिदेव उनकी तरफ एक बार देखले इसके लिए उनकी पत्नी ने बहुत देर तक इन्जार किया और इन्तजार करते करते थक गयी जिससे उनका ऋतुकाल निष्फल हो गया।

गुस्से में आकर शनिदेव की पत्नी ने उन्हें श्राप दे दिया कि पत्नी होने पर भी आपने मुझे कभी प्यार भरी नज़रों से नहीं देखा अब आप अपनी नज़रों से जिसे भी देखेंगे उसका कुछ न कुछ बुरा हो जाएगा यही वजह है की शनिदेव की नजरो में आज भी दोष माना जाता है श्राप के बाद शनि देव अपना सर निचे रखने लगे।

 

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Curse of Shani's wife was given to him

More News From dharam

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats