image

हर साल करवाचौथ की तरह महिलाएं अपनी संतान की सुख-समृद्धि के लिए अहोई माता का व्रत रखती है। जो करवाचौथ के 4 दिन बाद मनाया जाता है। इस दिन सभी महिलाएं अपनी संतान के जीवन की रक्षा के लिए अहोई माता की पूजा और व्रत रखती हैं। बता दें इस बार यह व्रत 21 अक्टूबर यानि कि आज है। 

ये व्रत हर साल कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की अष्टमी  तिथि  को आता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस व्रत को माएं अपने बेटे की लम्बी उम्र के लिए करती है। महिलाये इस दिन मां पार्वती के रूप अहोई माता की पूजा अर्चना करती है, मान्यता है कि इस व्रत को रखने से निसंतान लोगो भी विशेष फल की प्राप्ति होती है। 

अहोई अष्टमी शुभ महूर्त-
अहोई अष्टमी का व्रत 21 अक्टूबर 2019 को सुबह 5 बजकर 42 मिनट से शुरू हो जायेगा और शाम 6 बजकर 59 मिनट तक चलेगा 

READ MORE: सुख-समृद्धि भरा चाहते है जीवन तो आज करें ये एक उपाय, भोलेनाथ की होगी कृपादृष्टि

READ MORE: अंकज्योतिष: आज इस अंक के जातकों की मानसिक स्थिति रहेगी खराब, इन चीजों से रहें दूर

READ MORE: राशिफल: आज इस राशि के जातकों के कार्यस्थलों में बढ़ेगी रुचि, मां लक्ष्मी को चढ़ाएं ये चीजें

READ MORE: पंचांग और शुभ मुहूर्त 21 अक्टूबर

तिथि का समापन: 22 अक्टूबर 2019 को सुबह 05 बजकर 25 मिनट तक अहोई अष्टमी का समापन हो जाएगा तारो को देखने का समय 21 अक्टूबर 2019 शाम 6 बजकर 10 मिनट है। 

चांद उदय का समय: 21 अक्‍टूबर 2019 को रात 11 बजकर 46 मिनट तक चंद्रोदय होगा अहोई माता की पूजा प्रदोष काल में की जाती है इस व्रत में गाय के गोबर से कठपुतली बनाये और उसके बच्चो की पूजा करे इस व्रत में उसी करवे का इस्तेमाल करे जिस कार्वे को करवा चौथ में इस्तेमाल किया गया था। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Ahoi Ashtami 2019

More News From dharam

Next Stories
image

free stats