image

नई दिल्लीः आसाराम बापू के बेटे नारायण साईं को कोर्ट ने बलात्कार के आरोप में दोषी करार दिया है। दरअसल, सूरत में रहने वाली दो सगी बहनों की तरफ से लगाए गए बलात्कार के आरोप में सूरत की सेशन कोर्ट ने दोषी करार दिया है। आपको बता दें कि पुलिस ने पीड़ित बहनों के बयानों के आधार पर मामला दर्ज किया था और सारे सबूत सही पाए जाने के बाद रेप केस में नारायण साईं को दोषी करार दिया है। सजा का ऐलान आने वाले 30 अप्रैल को होगा। आपको बता दें कि नारायण साईं पर यह केस 11 साल पुराना है। 

Read More   अखिलेश-माया की रैली में घुसे सांड का तांडव, कई लोगों को किया घायल

पीड़िता छोटी बहन ने अपने बयान में नारायण साईं के खिलाफ ठोस सबूत देते हुए हर लोकेशन की पहचान की है, जबकि बड़ी बहन ने आसाराम के खिलाफ मामला दर्ज करवाया था। आसाराम के खिलाफ गांधीनगर के कोर्ट में मामला चल रहा है। नारायण साईं के खिलाफ कोर्ट अब तक 53 गवाहों के बयान दर्ज कर चुकी है, जिसमें कई अहम गवाह भी हैं जिन्होंने नारायण साईं को लड़कियों को अपने हवस का शिकार बनाते हुए देखा था या फिर इस कृत्य में आरोपियों की मदद की थी, लेकिन बाद में वो गवाह बन गए।

नारायण साईं पर जैसे ही रेप के मामले में एफआईआर दर्ज किया गया, वैसे ही वह अंडरग्राउंड हो गया था। वह पुलिस से बचकर लगातार अपनी लोकेशन बदल रहा था। तत्कालीन सूरत पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना ने नारायण साईं को गिरफ्तार करने के लिए 58 अलग-अलग टीमें बनाई और तलाशी शुरू कर दी थी।

Read More  शेखर तिवारी मर्डर केसः अजीब बर्ताव कर रही है अपूर्वा, पति को मारने पर है पछतावा

एफआईआर दर्ज होने के करीब दो महीने बाद दिसंबर, 2013 में नारायण साईं हरियाणा-दिल्ली सीमा के पास से गिरफ्तार कर लिया गया। गिरफ्तारी के वक्त नारायण साईं ने सिख व्यक्ति का भेष धर रखा था। खुद को कृष्ण का रूप बाताने वाले नारायण साईं की गिरफ्तारी के बाद उसके कृष्ण की तरह महिलाओं के बीच बांसुरी बजाने के कई वीडियो भी सामने आए थे।
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Narayan Sai son of Asaram found guilty in a rape case by Surat Sessions Court

More News From national

Next Stories

image
free stats