image

स्मार्टफोन के बिना लाइफ देखें तो शायद यह बेहद डरावनी और दुखदाई होगी।  क्योंकि यह आपको एन्जॉय करवाने के साथ- साथ मुश्किलों का सहारा भी बनता है लेकिन कहते है न कि जरूरत से ज्यादा आपको हमेशा दुःख देता है इसलिए स्मार्टफोन का अधिक इस्तेमाल भी आपके लिए हानिकारक है। जोकि हम आपको आगे विस्तार से बताने जा रहे है और साथ ही स्मार्टफोन रेडिएशन.... 

स्मार्टफोन रेडिएशन के बारे में, तो आपके सुना होगा? आजकल हमारे स्मार्टफोन्स हमेशा हमारे साथ ही रहते हैं, भले ही हम ट्रेवल कर रहें हो, या काम के समय वो हमारी पॉकेट में हो। स्मार्टफोन के अत्यधिक इस्तेमाल और उससे निकलने वाली रेडिएशन को लेकर पहले भी काफी बार चर्चा हो चुकी है। इसके बारे में यह सवाल भी उठे हैं की- क्या वाकई स्मार्टफोन्स को अपने शरीर के पास रखने से हमारे स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है? 

अब इसे लेकर कोई वैज्ञानिक रिसर्च तो सामने नहीं आई, जो यह बता सके की सेलफोन रेडिएशन का हम पर क्या असर पड़ता है, लेकिन जो लोग यह जानना चाहते हैं की इससे जुड़े रिस्क क्या हैं और इनसे कैसे बचा जा सकता है, यह पोस्ट उनके काम की है। स्मार्टफोन से निकलने वाले रेडिएशन से नेगेटिव इफेक्ट्स होते हैं। पिछले कुछ सालों में ऐसी कई रिपोर्ट्स आई हैं, जिसने स्मार्टफोन्स से निकलने वाले रेडिएशन के बारे में बात की है। इससे यूजर्स की हेल्थ पर भी असर पड़ता है।

आपको बता दें, SAR रेडिएशन को लेकर लेटेस्ट खबर के अनुसार, जिसे "Specific Absorption Rate" भी कहा जाता है, Statista ने फोन्स की नई लिस्ट जारी की है। इसमें बताया गया है की कौन-से स्मार्टफोन्स सबसे ज्यादा रेडिएशन निकालते हैं। रेडिएशन वैल्यू के साथ यह है स्मार्टफोन्स की पूरी लिस्ट।

Xiaomi Mi A1 इस लिस्ट में सबसे ऊपर है। यह फोन सितम्बर 2017 में लॉन्च किया गया था। Xiaomi Mi A1 की रेडिएशन वैल्यू 1.75 Watts प्रति किलोग्राम है। इस लिस्ट में की स्मार्टफोन निर्माता कंपनियों का बोलबाला है। इस लिस्ट में 16 में से 8 हैंडसेट्स चीनी स्मार्टफोन निर्माता कंपनियों के हैं। इसी के साथ प्रीमियम स्मार्टफोन्स जैसे की Apple iPhone 7 और iPhone 8 भी इस लिस्ट में शामिल हैं। वहीं, Google के Pixel हैंडसेट्स भी इस मामले में पीछे नहीं रहे।

इस लिस्ट में दूसरा, Xiaomi Mi Max 3 है। इस फोन से 1.58 Watts प्रति किलोग्राम रेडिएशन निकलता है। इसी के साथ, इस लिस्ट में तीसरा ऐसा फोन है, जिसके कई चाहने वाले होंगे। यह फोन है- OnePlus 6T... इसमें से 1.55 Watts प्रति किलोग्राम का रेडिएशन निकलता है। इस लिस्ट में कई बड़े स्मार्टफोन्स के नाम भी शामिल हैं। इसमें Google Pixel 3 XL (1.39w/kg), Apple iPhone 7 (1.38w/kg), Google Pixel 3 (1.33w/kg), Apple iPhone 8 (1.32w/kg) और Xiaomi Redmi Note 5 (1.29w/kg) शामिल हैं।

Statista की रिपोर्ट कहती है की इस लेवल के रेडिएशन के साथ लोगों को ये एहसास भी नहीं है की उनके स्मार्टफोन्स उनके स्वास्थ्य पर क्या असर डाल रहे हैं। जिन्हें नहीं पता, उन्हें बता दें, मोबाईल से निकलने वाला रेडिएशन आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं होता। इससे आपके शरीर पर बूरा प्रभाव पड़ता है। इसके लिए भारत में SAR के मानक भी तय किये गए हैं। SAR का मतलब स्पेसिफिक अब्सॉर्प्शन रेट है। जान लें की किसी भी मोबाइल की SAR वैल्यू 1.6 Watts प्रति किलोग्राम से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। अगर आपको अपने स्मार्टफोन के बारे में चेक करना है की उसकी SAR वैल्यू कितनी है, तो अपने फोन से *#07# डायल करें।

अपने स्मार्टफोन के रेडिएशन से बचने के लिए क्या करें?
अपने स्मार्टफोन के रेडिएशन से बचने और लम्बे समय बाद अपने स्वास्थ्य पर होने वाले इसके दुष्प्रभावों से बचने के लिए आप इन टिप्स को फॉलो कर सकते हैं। 
अपने स्मार्टफोन को हमेशा अपने शरीर के कांटेक्ट में ना रखें।
कॉलिंग की जगह टेस्टिंग पर बात करने की कोशिश करें।
कॉलिंग के समय वायर्ड हेडसेट या स्पीकर मोड का अधिक इस्तेमाल करें।
कॉलिंग पीरियड को छोटा ही रखें।
अपनी यूसेज को सीमित रखें। जितना ज्यादा इस्तेमाल करेंगे, जाहिर तौर से उतना अधिक रेडिएशन का असर पड़ेगा।
लो सिग्नल एरिया में फोन के इस्तेमाल से बचें।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: is Smartphones radiation harmful for human health

More News From life-style

Next Stories
image

free stats