image

नई दिल्ली: सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक पर हाल ही में अमेरिकी फेडेरल ट्रेड कमिशन ने कैंब्रिज अनालिटिका डेटा ब्रीच और यूजर्स से झूठ बोलने के लिए 5 अरब डॉलर की पेनाल्टी लगाई है। यूजर्स के डाटा के साथ इस हेर फेर के बाद अब मार्क जकरबर्ग ने पैसे देकर मामला रफा-दफा करने के लिए हां कर दी है। मार्क जकर्बरग ने इसके साथ ही प्राइवेसी और Facebook के काम करने के तरीके में बड़े बदलाव करने का ऐलान भी कर दिया है।

फेसबुक पर अमेरिकी फेडरल ट्रेड कमिशन के फाइन लगाने के बाद एक और बात सामने आई है। बात फेसबुक को बांटने की है। बात है इस पेनाल्टी को लगवाने के लिए जानकारी दी जाने की।  मार्क जकरबर्ग ने क्रिस ह्यूज के साथ ही मिल कर Facebook की शुरुआत की थी। और अब बातें आ रही हैं कि Facebook पर FTC द्वारा लगाई गई ऐतिहासिक पेनाल्टी के लिए Facebook के को-फाउंडर Chris Hughes भी जिम्मेदार हैं। 

फेसबुक के को फाउंडर क्रिस ह्यूज इससे पहले भी फेसबुक को कई हिस्सों में बांटने की सलाह दे चुके हैं। द वाशिंगटन पोस्ट और न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि क्रिस ह्यूज ने जांच के दौरान FTC से मुलाकात की है और उनकी मदद की है। बता दें कि क्रिस ह्यूज लगभग 10 साल पहले ही Facebook छोड़ चुके थे और हाल ही में एक बयान दिया था। इस बयान में उन्होंने कहा था कि फेसबुक को अलग अलग हिस्सों में बांट देना चाहिए।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Co-Founder reportedly wants split of FACEBOOK

More News From business

Next Stories
image

free stats