image

नई दिल्ली: टेक्नोलॉजी में हो रही ग्रोथ से अब ऐसा समय आने वाला है जिसकी कल्पना भी आपने अभी तक नहीं की होगी। हो सकता है कि अगले साल तक ऐसी टेक्नोलॉजी आ जाए कि आपका दिमाग कंप्यूटर या आपके स्मार्टफोन से जोड़ दिया जाए। दुनिया की सबसे मशहूर कंपनियों में से एक टेस्ला के चीफ एग्जिक्यूटिव और स्पेस X के संस्थापक एलन मस्क ने एक नई योजना का ऐलान किया। एलन मस्क की सीक्रेटिव कंपनी ने सैन फ्रांसिस्को में एक इवेंट के दौरान मंगलवार को इस बारे में जानकारी दी। 

इस योजना के तहत ब्रेन डिसऑर्डर यानी मस्तिष्क के विकारों से जूझ रहे लोगों की मदद की जा सकेगी। कंपनी ने बताया कि न्यूरालिंक एक ब्रेन-मशीन इंटरफेस को विकसित कर रही है जिससे ह्यूमन ब्रेन और कंप्यूटर को कनेक्ट किया जा सकेगा। अगर यह योजना सफल रहती है तो एलन मस्क के मुताबिक तमाम तरह की दिमागी बीमीरियां ठीक की जा सकेंगी। खासकर लकवाग्रस्त लोगों के इलाज में इससे काफी मदद मिलेगी। इसके अलावा और भी तमाम ब्रेन डिसऑर्डर्स को ठीक किया जा सकेगा। 

इस तकनीक की मदद से दिमाग में 4X4mm की एक चिप फिट कर दी जाएगी। यह चिप हज़ारों माइक्रोस्कोपिक थ्रेड से कनेक्टेड होगी। इन थ्रेड्स में लगे हुए इलेक्ट्रोड्स न्यूरल स्पाइक्स को मॉनीटर करने में सक्षम होंगे। एलन मस्क के मुताबिक इस टेक्नोलॉजी के ज़रिये मानव दिमाग को कंप्यूटर से जोड़ दिया जाएगा, जिससे कंप्यूटर न सिर्फ इंसान के दिमाग को पढ़ पाएगा बल्कि उसे कंट्रोल करने की स्थिति में भी होगा। इस टेक्नोलॉजी का चूहों और बंदरों पर प्रयोग किया जा चुका है, लेकिन इंसानों पर अभी इसका प्रयोग किया जाना बाकी है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Chip in mind and then Humans will be control by the smartphone!

More News From business

Next Stories
image

free stats