image

नई दिल्लीः वाहन निर्माता कंपनी TVS मोटर ने शुक्रवार को कहा कि भारत चरण चार (बीएस-चार) की जगह बीएस-छह को अमल में लाना वाहन उद्योग के लिए चुनौतीपूर्ण है और वित्त वर्ष 2019-20 की दूसरी तिमाही में इस कारण मांग में काफी अनिश्चितता की स्थिति रहने वाली है। टीवीएस मोटर कंपनी ने वित्त वर्ष 2018-19 के लिए अपनी वार्षिक रपट में कहा, 'एक अप्रैल, 2020 से बीएस-4 की जगह पर बीएस-6 उत्सर्जन नियमों को अपनाने से उद्योग में उल्लेखनीय बदलाव देखने को मिलेंगे।' कंपनी ने साथ ही कहा, '2019-20 की दूसरी तिमाही में उत्सर्जन नियमों में होने वाले बदलाव के कारण मांग में अनिश्चितता की स्थिति ज्यादा देखने को मिलेगी।  ऐसे में उत्पाद से जुड़ी तैयारी, आपूर्ति श्रृंखला से संबंधित तैयारी और डीलरशिप की तैयारी अहम होगी।'

21वीं सदी में इंसानों की खोपड़ी में उगेंगे सींग, वजह जान छोड़ देंगे मोबाईल यूज़ करना!

टीवीएस मोटर्स ने बाजार परिदृश्य के बारे में हितधारकों को सूचित करते हुए कहा कि साल के आखिर में तैयार भंडार की अधिक उपलब्धता, पिछले साल वस्तुओं के मूल्य में वृद्धि के चलते उत्पादों की ऊंची कीमतें और अप्रैल, 2019 से लागू नए सुरक्षा नियमों के चलते साल की शुरुआत में उद्योग की वृद्धि प्रभावित हो सकती है। कंपनी ने कहा, '2019-20 के दौरान दोपहिया उद्योग की वृद्धि 6-8 प्रतिशत की बीच रहने की उम्मीद है।' कंपनी ने देशभर में बारिश के असर के बारे में कहा, 'अच्छी बारिश से घरेलू दोपहिया मांग में वृद्धि हो सकती है क्योंकि इसमें ग्रामीण बाजारों की हिस्सेदारी उल्लेखनीय होती है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: TVS Motors told that adopting BS6 standards is challenging

More News From business

Next Stories

image
free stats