image

नई दिल्ली: भारतीय कार बाजार इस वक्त कठिनाइयों से गुज़र रहा है। ऑटो सेक्टर पर मंदी के बादल छाने की वजह से कई कंपनियों ने हजारों कामगारों को बेरोजगार बना दिया है तो वहीं कईयों के सर पर इस वक्त नौकरी जाने की तलवार लटक रही है। भारतीय कार बाजार के उद्योग के कारोबार में गिरावट का असर उन्हें माल सप्लाई करने वाली कंपनियों पर भी पड़ा है। 
    
भारतीय ऑटो उद्योग में तेजी से आई गिरावट के कारण गाड़ियों के पार्ट्स सप्लाई करने वाली 400 कंपनियों को इस वित्तीय वर्ष में 10 हजार करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ा है। 2019 में ऑटो उद्योग में आई गिरावट का असर AIFI (एसोसिएशन ऑफ इंडिया फोर्जिंग इंडस्ट्री) की आय पर भी पड़ा है। बता दें कि पिछले वर्ष AIFI की वार्षिक राजस्व आय लगभग 50 हजार करोड़ रुपये थी ।इस वित्त वर्ष में फोर्जिंग इंडस्ट्री को 9 से 10 हजार करोड़ रुपए तक का नुकसान होने का अनुमान है।

भारतीय फोर्जिंग उद्योग संघ के दो वरिष्ठ सदस्यों ने आजतक से बातचीत में कहा कि ऑटो उद्योग में आई गिरावट का असर 400 सदस्यीय औद्योगिक इकाइयों पर पड़ा है जो AIFI के अंतर्गत आते हैं। इससे प्रभावित होने वाली कंपनियों में 180 से 200 विनिर्माण इकाइयां हैं। 83% छोटे पैमाने की औद्योगिक इकाइयां हैं। 9% मध्यम इकाइयां हैं और बाकी बड़े पैमाने पर औद्योगिक निर्माता हैं।

ऑटो सेक्टर में गिरावट का सबसे ज्यादा खामियाजा लघु उद्योग को हुआ है। ऑटो सेक्टर BS-4 से BS-6 में होने वाले परिवर्तन के कारण संकट में है। BS-6 के इंतजार में कारों की बिक्री में तेजी से कमी आई है। परेशानी ये है कि ऑटो सेक्टर में गिरावट के कारण छोटे उद्योगों के माल की खपत नहीं हो पा रही है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Companies lost 10 thousand crores due to fall in auto market business!

More News From business

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats