poverty alleviation

शी चिनफिंग की शैनशी यात्रा से गरीबी उन्मूलन का पक्का विश्वास जाहिर हुआ

योजनानुसार इस साल चीन अति गरीबी दूर करने का काम पूरा कर चौतरफा तौर पर खुशहाली समाज का निर्माण पूरा करेगा। लेकिन कोरोना वायरस महामारी से चीन के सामने नयी कठिनाई आयी है। अब निर्धारित लक्ष्य को पूरा करने में सिर्फ 200 दिन के आसपास का समय ही बचा है। क्या चीन समय पर अपना लक्ष्य पूरा कर पाएगा?

20 से 23 अप्रैल तक शैनशी प्रांत की यात्रा के दौरान शी चिनफिंग ने व्यवसाय, रोजगार, स्वास्थ्य और शिक्षा के पहलुओं में कदम उठाकर गरीबी दूर करने का मार्ग दिखाया और योजनानुसार गरीबी उन्मूलन पूरा करने के स्पष्ट संकेत भेजा, जिससे चीन की सत्तारूद्ध पार्टी के जनता से केंद्रित रहने की राजनीतिक अवधारणा जाहिर हुई।

20 अप्रैल को दोपहर बाद और 21 अप्रैल की सुबह उन्होंने छिनपा पहाड़ में स्थित दो काउंटियों का दौरा किया। उन्होंने काले मशरूम व्यवसाय और चाय बागान का जायजा लिया और स्थानीय समुदाय, चिकित्सा तथा स्कूल का निरीक्षण भी किया। गरीबी उन्मूलन में चीन का ठोस लक्ष्य यही है कि गरीब लोगों को खाने और कपड़े की किल्लत न हो और अनिवार्य शिक्षा, बुनियादी चिकित्सा सेवा और सुरक्षित मकान की गारंटी मिले।

उधर महामारी से श्रमिकों के रोजगार पर बड़ा प्रभाव पड़ा है। शैनशी जाने से पहले शी चिनफिंग ने सीपीसी केंद्रीय समिति के पोलित ब्यूरो की बैठक बुलाकर नागरिकों के रोजगार और बुनियादी जनजीवन सुनिश्चित करने समेत 6 पक्षों के काम पर बल दिया। इस निरीक्षण के दौरान उन्होंने गरीबी उन्मूलन का ठोस इंतजाम किया। इस साल अगर चीन पूरी तरह से गरीबी दूर भगा देगा, तो चीन 10 साल के पहले संयुक्त राष्ट्र 2030 निरंतर विकास कार्यसूची में निर्धारित गरीबी उन्मूलन का लक्ष्य पूरा कर लेगा। यह पूरे विश्व के लिए बड़ा महत्व रखेगा।