Vastu Tips

Vastu Tips: घर के पूजाघर में रखें इन बातों का ध्यान, वरना करना पढ़ सकता है आपको मुश्किलों का सामना

हमारे घर में पूजाघर का होना बेहद आवशयक होता है। घर पर पूजाघर न होने से हमारे जीवन में नकरात्मक शक्तियां बनी रहती हैं और घर में कलह-क्लेश सदैव बना रहता है। परन्तु अगर घर में पूजाघर हो तो सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह सदैव बना रहता है। और हमारे जीवन में सदैव खुशहाली बनी रहती है। आज हम आपको बताएंगे की पूजाघर बनाते समय या पूजाघर में किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए। 

1"अगर मकान वर्षों से खाली पड़ा है तो ऐसे मकान को वास्तुशांति के बाद उपयोग में लाएं।
2" अपने घर को तीन माह से अधिक समय तक खाली न छोड़ें। घर के भंडार को भी कभी खाली न रखें। अगर कहीं जाना है तो कभी पूजाघर में ताला लगाकर न जाएं।
3" वास्तु के अनुसार घर का मंदिर रसोईघर में नहीं होना चाहिए।
4" पूजाघर में भगवान श्रीगणेश और मां लक्ष्मी की मूर्ति को कभी भी खड़ा न रखें। पूजा स्थल अंधेरे में न हो।
5" ईशान कोण में पूजाघर होने से घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह सदैव बना रहता है। मंदिर सीढ़ियों के नीचे नहीं बनाना चाहिए।
6" शौचालय या बाथरूम के बगल में नहीं बनाना चाहिए। बेडरूम में भी मंदिर नहीं होना चाहिए। बेसमेंट भी पूजाघर के लिए
7" अगर मंदिर लकड़ी का है तो इसे घर की दीवार से सटाकर न रखें। पूजाघर में देवताओं की दृष्टि एक-दूसरे पर नहीं पड़नी चाहिए।
8" पूजाघर में गुंबद, कलश नहीं बनाने चाहिए। मंदिर के नीचे पूजन सामग्री, धार्मिक पुस्तकों को रखना चाहिए। मंदिर में रखी भगवान की मूर्तियों का चेहरा किसी भी वस्तु से ढंका हुआ नहीं होना चाहिए।