china

टिप्पणीः संकट से मौके ढूंढने की कोशिश करें

विश्व में कोविड-19 के तेजी से फैलाव से अंतर्राष्ट्रीय आर्थिक व व्यापारिक गतिविधियों पर गंभीर रूप से असर पड़ा है। चीन का आर्थिक विकास भी नयी चुनौतियों का सामना कर रहा है। हाल में चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने पूर्वी चीन के चच्यांग प्रांत का दौरा किया और खासतौर पर संकट के बारे में अपने विचार प्रकट किये। उन के मुताबिक, संकट हमेशा मौके से सहअस्तित्व करता है। संकट को दूर करने के बाद मौके जरूर मिलेंगे।

हालांकि महामारी ने अनेक लोगों के जीवन तरीकों को परिवर्तित किया है, फिर भी और ज्यादा नयी संभावनाएं पैदा हुई हैं। कुछ समय पहले यानी 8 मार्च महिला दिवस के दौरान चीनी ई-कॉमर्स प्लेटफार्म टीमॉल में बिक्री में 650 प्रतिशत का इजाफा हुआ। इस के अलावा चीन में ऑनलाइन पढ़ाई, इंटरनेट उपचार, स्मार्ट उत्पादन लाईन आदि नये फार्मूले चीन में लोकप्रिय होने लगे हैं। जबकि बिग डेटा, एआई और क्लाउड कंप्यूटिंग आदि डिजिटल तकनीकों के इस्तेमाल से महामारी की निगरानी व विश्लेषण, वायरस की स्रोत, रोकथाम व इलाज और संसाधन के बंदोबस्त आदि क्षेत्रों का अहम आधार बन चुका है।

मानव जाति के इतिहास में अनेक आपदाओं ने बार बार उद्योग के सुधार को प्रेरित किया था। 40 साल पहले के दोबारा तेल संकट के दौरान विभिन्न देशों के भारी रासायनिक उद्योग को गंभीर रूप से प्रभावित किया था। लेकिन इस से अमेरिका ने कंप्यूटर, अंतरिक्ष, जैविक प्रॉजेक्ट आदि कम ऊर्जा होने वाले नवोदित उद्योगों का विकास किया और उद्योग ढांचे के स्थानांतरण को पूरा किया।

1997 एशियाई वित्तीय संकट के दौरान जापान और दक्षिण कोरिया ने अपने देशों की श्रेष्ठताओं का प्रयोग कर उद्योग के उन्नयन को प्रोत्साहित किया और एनीमेशन मनोरंजन और सूचना प्रौद्योगिकी का बड़ा विकास किया।

2003 में सार्स के मुकाबले में विजय पाने के बाद चीन में ई-कॉमर्स का तेजी से विकास हुआ। ऑनलाईन बिक्री और मोबाइल भुगतान का प्रतिनिधित्व करने वाली अनेक इंटरनेट कंपनियों ने डिजिटल अर्थव्यवस्था को आगे विकसित किया।

आज कोविड-19 के झटके में आर्थिक विकास में मंदी आने का खतरा है। इसलिए हमें संकट को मौके में बदलना चाहिए। चीन के पास 1.4 अरब आबादी का विशाल बाजार है और करीब 10 खरब चीनी युआन की जीडीपी है। यह चीन द्वारा नयी प्रेरणा शक्ति का पालन करने और नयी जीवित शक्ति की रिहाई देने का आधार है। चीन नवाचार, समन्वय, हरित, खुलेपन और साझा उपभोग की नयी विकास विचारधारा से विकास का उन्नयन करेगा। 
(साभार-चाइना रेडियो इंटरनेशनल, पेइचिंग)