China-India border

चीन-भारत सीमा क्षेत्र की समग्र स्थिति स्थिर और नियंत्रण में है : चीनी विदेश मंत्रालय

18 जून को आयोजित चीनी विदेश मंत्रालय के नियमित संवाददाता सम्मेलन में यह पूछे जाने पर कि चीनी स्टेट काउंसलर और विदेश मंत्री वांग यी ने भारतीय विदेश मंत्री एस. जयशंकर के साथ फोन पर बातचीत की और चीन-भारत सीमा विवाद पर विचारों का आदान-प्रदान किया। इस पर चीन की क्या टिप्पणी है और चीन-भारत सीमा क्षेत्र की स्थिति में तनाव बढ़ने की कोआ आशंका है?

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता चाओ लीच्येन ने कहा कि हाल ही में चीन-भारत सीमा विवाद पर चीनी स्टेट काउंसलर और विदेश मंत्री वांग यी ने भारतीय विदेश मंत्री एस. जयशंकर के साथ फोन पर बातचीत करते हुए चीन का गंभीर रवैया स्पष्ट किया। चीन ने कई बार कहा है कि भारतीय पक्ष के सीमा बल ने खुलेआम दोनों सेनाओं के बीच भेंटवार्ता में प्राप्त सहमति का उल्लंघन कर गलवान घाटी में वास्तविक नियंत्रण रेखा पार कर चीनी सैनिकों के साथ मुठभेड़ की, जिससे लोग हताहत हुए हैं। 

घटना के बाद चीन व भारत ने सैन्य व राजनयिक माध्यम से संपर्क और समन्वय किया। दोनों पक्षों ने गलवान घाटी में हुई मुठभेड़ से निष्पक्ष रूप से निपटने और दोनों सेनाओं के बीच भेंटवार्ता में प्राप्त सहमति का समान पालन करने पर सहमति जतायी, ताकि स्थानीय स्थिति जल्द से जल्द शांत हो सके और सीमा क्षेत्र की स्थिरता व शांति की रक्षा की जा सके।

वर्तमान में चीन-भारत सीमा क्षेत्र की समग्र स्थिति स्थिर और नियंत्रण में है। विश्वास है कि दोनों पक्ष दोनों देशों के नेताओं के बीच संपन्न अहम सहमतियों की भावना के मार्गदर्शन में वर्तमान स्थिति का उचित निपटारा कर सकेंगे और सीमांत क्षेत्र की शांति व स्थिरता की समान रक्षा करेंगे और दोनों देशों के संबंधों का स्वस्थ और स्थिर विकास बढ़ाएंगे।
(साभार-चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)