chandigarh

पंजाब विश्वविद्यालय फीस वृद्धि का यूथ फॉर स्वराज ने किया विरोध

चंडीगढ़ः कोविड-19 संकट और लॉकडाऊन के दौरान, जबकि सभी वर्गों की आय बुरी तरह प्रभावित हुई है, पंजाब विश्वविद्यालय की तरफ से सभी पाठ्यक्रमों की फीस में पांच से साढ़े सात फीसदी की प्रस्तावित वृद्धि का यूथ फॉर स्वराज ने आज विरोध किया।स्वराज इंडिया की युवा इकाई की तरफ से यहां जारी बयान में फीस वृद्धि के प्रस्ताव को अन्यायपूर्ण करार देते हुए इसे वापस लेने की मांग की गई है।

यूथ फॉर स्वराज के मीडिया सेल के अंकुर की तरफ से जारी बयान के अनुसार पंजाब विश्वविद्यालय के लगभग 43त्न विद्यार्थी सेल्फ-फाइनेंस कोर्स में पढ़ते हैं, जिनकी फीस इकतीस हजार रुपये से लेकर पांच लाख तक है। इसमें और वृद्धि कई प्रतिभाशाली और मेधावी विद्यार्थियों के लिए विश्वविद्यालय के द्वार हमेशा के लिए बंद कर देगी।

बयान के अनुसार पंजाब विश्वविद्यालय प्रशासन ने सभी कोर्स की फीस में 5 से 7.5त्न की वृद्धि का प्रस्ताव दिया है जबकि वैश्विक महामारी के इस दौर में जब अधिकांश परिवारों की आय में गिरावट आई है, पंजाब विश्वविद्यालय की तरफ से फीस का बढ़ाना कई परिवारों को पंजाब विश्वविद्यालय से शिक्षा ले सकने से वंचित कर देगा।