avdertisement
pulwama attack

पुलवामा आतंकी हमले के शहीद जैमल सिंह की मनाई गई पहली बरसी, मां ने रोते हुए किया बेटे को याद

मोगाः जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले में 40 से ज़्यादा जवान शहीद हुए, शहीद हुए जवानों में से मोगा के कस्बा कोट -ईसे-खां के रहने वाले जैमल सिंह जो कि CRPF की बस चला रहे थे, हमले दौरान शहीद हो गए थे। आज उनके पैतृक गांव गलौटी में उनकी पहली बरसी मनाई  ।

वहीं जैमल सिंह की पत्नी सुखजीत कौर ने मीडिया से खास बातचीत करते हुए बताया कि आज पंजाब सरकार की ओर से उन्हें 5,000,00 का चेक दिया गया है इससे पहले पंजाब सरकार की ओर से 7,000,00 दिया गया था । पंजाब सरकार की ओर से कोई 1200000 देने का वादा किया था जिसमें 5,000,00 आज पंजाब सरकार की तरफ से दिया गया है। लेकिन पंजाब सरकार ने और भी बहुत वादे किए थे जैसे शहीद जयमल सिंह के नाम पर पुल बनाने का वादा किया था और जानकारी गेट बनाने का भी वादा किया था लेकिन सरकार की ओर से इनमें से कोई वादा भी पूरा नहीं किया ।

वहीं रोते हुए जैमल सिंह की माता ने कहा जिनके बेटे ने जो शहादत दी है उस पर उनको गर्व है। उन्होंने कहा कि एक मां से उसका बेटा छीनने का दुख तो सिर्फ एक मां ही जानती है। उन्होंने कहा कि दिन रात में जैमल सिंह को याद करती हैं ।


वही सीआरपीएफ के उच्च अधिकारी ने कहां कि हम जैमल सिंह के परिवार के साथ हमेशा खड़े हैं उनके हर दुख सुख मैं हमेशा शामिल होते रहेंगे ।वही मोगा के एडीसी सुभाष चंद्र ने कहा कि कहीं ना कहीं पंजाब सरकार की तरफ से देरी जरूर हुई है लेकिन जो भी प्रक्रिया होती है उसमें समय जरूर लगता है और आज परिवार वालों को 5,000,00 का चेक पंजाब सरकार की तरफ से दिया गया है। उन्होंने कहा कि शहीद जैमल सिंह के नाम पर कोई भी यादगार जल्द ही बना दी जाएगी  ।