Corona virus himachal

पुलिस कर्मी अब लाठी नहीं भांज रहे बल्किखिला रहे खाना

सोलन : प्रदेश भर में पुलिस एक ओर जहां कोरोना जैसे खतरनाक वायरस का डटकर सामना करने के लिए दिन रात अपने कर्तव्य का निर्वहन करने के लिए सड़कों पर है तो वहीं दूसरी ओर सामाजिक कार्य करने में भी पुलिस की बेहतरीन छवि सामने आ रही है। इसी का ताजा उदाहरण रविवार रात सोलन में देखने को मिला। कफ्यरू के दौरान शिमला की ओर से कुछ मजदूर पैदल चल रहे थे। सोलन सिटी चौकी के करीब पहुंचे तो पुलिस ने पूछताछ की। बात करने पर पता चला कि मजदूरों ने खाना नही खाया था। जिस कारण उनकी हालत खराब नजर आ रही थी। इसी दौरान कांस्टैबल संजीव ठाकुर ने इंसानियत की मिसाल पेश की। उन्होंने किसी समाज सेवी या आसपास के लोगों से मदद नही मांगी। उन्होंने सीधा अपने घर फोन कर खाना बनवाया और थोडी देर में खाना लाकर मज़दूरों को खिलाया। हर कोई पुलिस कर्मी की इस तरह की मानवता को देखकर प्रभावित हुआ। इसी तरह बीते दिन उपमंडल के दाडलाघाट पुलिस थाने में कार्यरत हेड कांस्टेबल कमला वर्मा ने भी गश्त के दौरान दाडलाघाट में 6 ट्रक चालको को 10 दिन का राशन दिया। ये ट्रक यार्ड में खडे थे। जिसमें जम्मू कश्मीर के ट्रक ड्राइवर कर्फ्यू के चलते काफी परेशान थे। यही नही क्षेत्न के छामला के नजदीक 16 सालों से किराये के कमरे में रह रही नेपाली मूल की महिला को भी पुलिस कर्मी कमला वर्मा ने खाने पीने की वस्तुएं उपलब्ध करवाई।  जिसके दो बच्चे है और पति की मृत्यु होने के बाद इसके ऊपर भी दिहाडी न लगने से संकट आ गया। हेड कांस्टेबल कमला वर्मा ने कहा कि इस मुश्किल समय में सभी लोगों को जरूरतमंद की सहायता के लिए आगे आना चाहिए। ताकि लोगों की दिक्कतों को दूर किया जा सके।