avdertisement
Nirbhaya convict Mukesh

निर्भया के दोषी मुकेश ने कहा- मेरे साथ जेल में हुआ यौन उत्पीड़न, प्रिजन ऑफिसर ने नहीं की मदद

निर्भया के दोषियों की फांसी का दिन जैसे-जैसे नजदीक आ रहे है वैसे ही वह फांसी से बचने के लिए अलग अलग हत्थकंड़े अपना रहे है। निर्भया गैंगरेप केस के दोषी मुकेश सिंह का जेल में यौन उत्पीड़न हुआ था। मुकेश की ओर से सुप्रीम कोर्ट में दलील रख रही वकील अंजना प्रकाश ने कहा कि मुकेश का जेल में यौन उत्पीड़न हुआ। उस समय प्रिजन ऑफिसर वहां थे, लेकिन उन्होंने मदद नही की। मुकेश को उस समय हॉस्पिटल नहीं ले जाया गया। बाद में उसे दीन दयाल उपाध्याय हॉस्पिटल ले जाया गया। मुकेश की वकील ने कहा वो मेडिकल रिपोर्ट कहां है?

इसके साथ ही मुकेश की ओर से उनकी वकील ने कहा कि उसके भाई राम सिंह को मार दिया गया। जेल ऑफिसर कह रहे है कि उसने फांसी लगाई गई, जबकि उसका एक हाथ खराब था। वो फांसी लगाकर खुदकुशी कैसे कर सकता है। मुकेश ने कहा कि मैं इस बाबत एफआईआर दर्ज कराना चाहता था।