China

माउंट एवेरेस्ट के मापन में चीन को सफलता मिलने की प्रतीक्षा में नेपाल

विश्व में सबसे ऊंची चोटी माउंट एवेरेस्ट की ऊंचाई आखिर कितना मीटर है? विज्ञान व तकनीक के निरंतर विकास से लोगों को आशा है कि नयी तकनीक से एवेरेस्ट की सटीक ऊंचाई का पता लग सकेगा। चीन की वर्ष 2020 माउंट एवेरेस्ट का मापन कार्य हाल ही में फिर एक बार शुरू हुआ। 16 मई को पर्वतारोहियों ने समुद्र तल से 5200 मीटर ऊपर स्थित बेस कैंप से चलकर अंतिम चरण के पर्वत पर चढ़ने का साहस दिखाया। इस बार के मापन कार्य पर न सिर्फ़ चीन के विभिन्न जगतों का ध्यान केंद्रित हुआ, बल्कि नेपाल की विभिन्न जगतों का भी ध्यान केंद्रित हुआ है।

नेपाल की भूमि व्यवस्था, सहकारी तथा गरीबी उन्मूलन मंत्री पदमा कुमारी अर्याल के अनुसार नेपाल सरकार ने वर्ष 2019 में पेशेवर माप विशेषज्ञों को संगठित कर नेपाल की ओर से एवेरेस्ट पर चढ़कर ऊंचाई का मापन किया। नेपाल और चीन ने इस बात पर सहमति जतायी कि जब चीन वर्ष 2020 में एवेरेस्ट का मापन पूरा कर लेगा, तो दोनों पक्ष एक साथ इस का परिणाम जारी करेंगे।

नेपाली मंत्री अर्याल के अनुसार वर्ष 2015 में नेपाल में 8.1 तीव्रता वाला भूकंप आया था, तो क्या भूकंप से एवेरेस्ट की ऊंचाई पर असर पड़ा था? इस पर विश्व का ध्यान केंद्रित हुआ है, इसलिये एवेरेस्ट का सटीक ऊंचाई मापना नेपाल और चीन दोनों देशों की जिम्मेदारी बन गयी है।
(साभार-चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)