privatizing trains

ट्रेनों का निजीकरण कर गरीबों की जीवनरेखा छीन रही मोदी सरकार: राहुल

नई दिल्लीः कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने निजी कंपनियों को यात्री ट्रेनें चलाने की अनुमति देने के सरकार के कदम को लेकर गुरुवार को मोदी सरकार पर अपना हमला तेज कर दिया। उन्होंने कहा कि सरकार गरीबों से देश की ‘जीवनरेखा’ छीन रही है और जनता इसका करारा जवाब देगी।

राहुल ने एक समाचार रिपोर्ट को संलग्न करते हुए ट्वीट किया, ‘‘रेल गरीबों की एकमात्र जीवनरेखा है और सरकार उनसे ये भी छीन रही है। जो छीनना है, छीनिए। लेकिन याद रहे- देश की जनता इसका करारा जवाब देगी।’’ भारतीय रेलवे ने 109 जोड़ी निजी ट्रेनों के परिचालन में निजी भागीदारी को लेकर योग्यता प्रमाणित करने का अवसर पाने के लिए आवेदन आमंत्रित किया है। 
रेल मंत्रालय ने कहा कि पहल का उद्देश्य आधुनिक प्रौद्योगिकी रोलिंग स्टॉक को कम रखरखाव, कम पारगमन समय के साथ पेश करना, रोजगार सृजन को बढ़ावा देना, बढ़ी हुई सुरक्षा प्रदान करना, यात्रियों को विश्वस्तरीय यात्रा का अनुभव कराना है।