homemade handwash

फिटकरी और कपूर से घर में यूं बनाएं हैंडवाॅश, कोरोना वायरस के संक्रमण से होगा बचाव

कोरोना वायरस का कहर दिन-प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है, पूरे विश्व में कोरोना से लाॅकडाउन हुआ है जिससे सभी देशवासियों को बचाने की हर संभव कोशिश की जा रही है। इसके साथ ही सभी देश के वैज्ञानिक और डाॅक्टर्स कोरोना की वैक्सीन बनाने की रिसर्च हो रही है। कोरोना वायरस से बचने के लिए सभी एल्कोहल युक्त सेनेटाइजर का इस्तेमाल कर रहे हैं। इसी बीच एल्कोहल युक्त सेनेटाइजर बनाने के कच्चे माल की कमी को देखते हुए आईआईटी बीएचयू के केमिकल इंजीनियरिंग विभाग ने हैंडवॉश बनाने का घरेलू फार्मूला बताया है। इससे आसानी से घर पर ही हैंडवॉश बनाया जा सकता है। इसमें नीम, तुलसी और रीठा के साथ एलोवेरा की जरूरत होगी। 

बता दें, नीम व तुलसी के एंटीबैक्टीरियल गुणों से सभी परिचित हैं। औषधीय गुणों से युक्त नीम व तुलसी वर्षों से लोगों के घरों में प्रमुखता से इस्तेमाल की जाती है। केमिकल इंजीनयरिंग विभाग के प्रो. पीके मिश्रा ने बताया कि सेनेटाइजर बनाने के लिए उपयोग किए जाने वाले केमिकल की कमी हो गई है। पर इससे घबराने की बात नहीं है।

घर पर हैंड सैनेटाइजर तैयार करने के लिए आपको बहुत ज्यादा सामग्री की जरूरत नहीं हैं। यह न सिर्फ कारगर व सस्ता होगा, बल्कि इसे बहुत ही आसानी से बनाया जा सकता है। इसके लिए 100 ग्राम नीम की पत्ती, इतनी ही तुलसी और 50 ग्राम रीठा को दो लीटर पानी में उबालना है। जब पानी एक लीटर से थोड़ा ज्यादा बचे तब आंच से उतार कर ठंडा कर लें फिर इसके बाद एलोवेरा का गूदा उसमें मिला कर बोतल में रख लें। इसका इस्तेमाल साबुन की तरह किया जा सकता है। घोल को हाथ में लें और थोड़ा पानी लेकर कम से कम 20 सेकेंड तक हाथों को अच्छी तरह से रगडें और अंत में पानी से धो लें। ऐसे ही फिटकरी, नीम, रीठा और एलोवेरा को भी मिलाकर हैंडवॉश तैयार किया जा सकता है। 

कोई भी क्षारीय पदार्थ वायरस से रक्षा करेगा। अतः अपने शरीर का पीएच भी क्षारीय रखें। इसके लिए साइट्रिक फल जैसे संतरा, नीबू, मकोय का सेवन कर सकते हैं। जैसे साबुन वायरस के लिपिड को तोड़कर उसे नष्ट करता है, वैसे ही नमक पानी भी लिपिड को नष्ट कर सकता है अतः यदि साबुन से सब्जी धोने का मन न करे तो उसे नमक के घोल में 10-15 मिनट तक भिगों कर रख दें, फिर पानी से खूब धो लें।

घर में जरुर करें ये काम-
घर में जलाए कपूर, लोहबान: घर के वातावरण को शुद्ध रखने के लिए धूप, कपूर अथवा लोहबान जलाएं इससे घर का वातावरण स्वच्छ रहेगा। मच्छर व मक्खी कम होंगे, जिससे संक्रमण की संभावना भी दूर होगी।

जेब में रखें फिटकरी: सेनेटाइजर न मिल रहा हो और साबुन लेकर चलने में दिक्कत है तो जेब में फिटकरी रख कर चलें। संक्रमण से बचाने में फिटकरी का एक टुकड़ा भी काम आएगा। थोड़ा सा पानी लेकर हाथ पर फिटकरी को रगड़ कर भी संक्रमण को दूर किया जा सकता है।

नमक के घोल में धोएं सब्जी: बाहर से सब्जी व फल खरीदकर लाएं तो उसे कुछ देर के लिए नमक के पानी में रखें। साबुन के पानी से सब्जी व फल धोने से उसमें साबुन की महक समा जाएगी। पर नमक के घोल से ऐसी दिक्कत नहीं होगी। इसे साफ पानी से धोने के बाद इसे इस्तेमाल करें।

सोडियम हाइपोक्लोराइड का छिड़काव: संक्रमण से बचने के लिए घर में तथा बाहर सोडियम हाइपोक्लोराइड का छिड़काव कराए 10 ग्राम हाइपोक्लोराइड में एक लीटर पानी डालें और छिड़काव करें। घर के बाहर ब्लीचिंग पाउडर भी घोल कर छिड़क सकते है।

ऐसे बनाएं सेनेटाइजर: फिटकरी और कपूर की बराबर की मात्रा को पाउडर बना लें। थोडे़ से पानी में तुलसी की पत्ती डालकर उबाल ले इस घोल में पाउडर मिक्स कर सेनेटाइजर के रूप में प्रयोग करे। ऐसे ही फिटकरी एलावेरा और गुलाब जल को भी मिला सकते है।