avdertisement
Lord Ganesha

बुधवार के दिन भगवान गणेश जी की पूजा में शामिल करें ये सामग्री, मिलेगा शुभ वरदान

बुधवार का दिन भगवान गणेश जी की पूजा के लिए शुभ माना जाता है और सभी शुभ कार्यों को करने से पहले भगवान गणेश जी की पूजा करे आने वाली सभी बाधाओं का अंत होता है। आज बुधवार का दिन भगवान गणेश जी को प्रसन्न करने के कुछ आसान उपाय बताने जा रहे हैं। 

सामग्री-
गणेश की जी की पूजा करने के लिए कुछ खास सामग्री होना जरूरी माना जाता है। जैसे शुद्ध जल, दूध, दही, शहद, घी, चीनी, पंचामृत, वस्त्र, यज्ञोपवीत, सुगंध, लाल चंदन, रोली, सिंदूर, गंगाजल, पान, सुपारी, रूई, कपूर, अक्षत, पुष्प, माला, दूब, शमीपत्र, जनेऊ, गुलाल, आभूषण, धूपबत्ती, दीपक, प्रसाद, फल, आदि। इसके साथ कलश पर रखने के लिकए चावल होना भी बेहद जरूरी है। 

गणेश भगवान की पूजा विधि-
- प्रातः काल स्नान ध्यान आदि से सुद्ध होकर सर्व प्रथम ताम्र पत्र के श्री गणेश यन्त्र को साफ़ मिट्टी, नमक, निम्बू  से अच्छे से साफ़ किया जाए। पूजा स्थल पर पूर्व या उत्तर दिशा की और मुख कर के आसान पर विराजमान हो कर सामने श्री गणेश यन्त्र की स्थापना करें। 

- शुद्ध आसन में बैठकर सभी पूजन सामग्री को एकत्रित कर पुष्प, धूप, दीप, कपूर, रोली, मौली लाल, चंदन, मोदक आदि गणेश भगवान को समर्पित कर, इनकी आरती की जाती है।

- अंत में भगवान गणेश जी का स्मरण कर ॐ गं गणपतये नमः का 108 नाम मंत्र का जाप करना चाहिए। 

- पंडितों का मानना है कि बुधवार के दिन श्री गणेश की विधिवत पूजा करने के बाद गुड़ और घी का भोग लगाएं। थोड़ी देर के बाद ये भोग गाय को खिला दें। इसे व्यक्ति को विशेष फल की प्राप्ति होगी। इस दिन यदि घर में श्रीगणेश की सफेद रंग की प्रतिमा स्थापना करें तो इसे अत्‍यंत शुभ माना जाता है। सफेद मोदक का प्रसाद चढ़ाना और ग्रहण करना भी ना भूलें। इससे घर में और मन में शांति बनी रहेगी।  

- इसके साथ ही कहते हैं कि बुधवार के दिन गणेश जी को शमी के पत्ते अर्पित करने से तीक्ष्ण बुद्धि होती है और ग्रह कलह का भी नाश होता है, इसलिए उनको शमी पत्र से प्रसन्‍न करें। इसके अलावा लंम्‍बोदर पर लाल सिंदूर और बूंदी के लड्डू भी अर्पित करें।