Himachal resorts

फिर सैलानियों से गुलजार होंगी हिमाचल की सैरगाहें!

शिमला : पर्यटक राज्य हिमाचल की सैरगाहें एक मर्तबा फिर सैलानियों से गुलजार होंगी। सरकार के प्रदेश की सीमाओं को सैलानियों के लिए खोलने के साथ ही पर्यटन कारोबारी सैलानियों का इश्तकबाल करने को तैयार हैं। प्रदेश सरकार से अनुमति के बाद पर्यटन विभाग ने हिमाचल में सैलानियों के लिए मानक संचालन प्रक्रिया जारी कर दी है। मानक संचालन प्रक्रिया में अहम है फेस मास्क व आईसीएमआर से मंजूर प्रयोगशाला की रिपोर्ट। प्रदेश में प्रवेश करने वाले किसी भी सैलानी को ई-पास पर आवेदन के साथ साथ प्रदेश की सीमाओं से अंदर दाखिल होते वक्त लैब का कोरोना नैगेटिव का प्रमाण पत्र दिखाना होगा। प्रमाण पत्र कम से कम 72 घंटे पहले का होना चाहिए। होटलों में कमस केम 5 दिन की ऑनलाइन बुकिंग होगी। सीमा पर पहुंचते ही कोरोना नैगेटिव प्रमाण पत्र तो दिखाना होगा और थर्मल स्कैनिंग भी अनिवार्य है। पर्यटक वाहनों का भुगतान भी ऑनलाइन होगा। सैलानियों के होटल पहुंचने पर इसकी जानकारी बॉर्डर से पूछताछ करने वाले अधिकारियों को होटल प्रबंधन द्वारा देनी होगी। आरोग्य सेतु ऐप का उपयोग अनिवार्य कर दिया गया है। प्रदेश में आने से 48 घंटे पहले टूरिस्ट की कैटेगिरी में कोविड ई-पास पोर्टल पर पंजीकरण करवाना होगा। हिमाचल होटल एंड टूरिज्म इंडस्ट्री स्टेक होल्डर्स ऐसोसिएशन के प्रधान महेंद्र सेठ का कहना है कि सैलानियों के लिए प्रदेश को खोलना स्वागत योज्य फैसला है। उन्होंने कहा कि बेशक अभी विदेशी सैलानियों को प्रदेश में पहुंचने में कुछ वक्त लगेगा। मगर देश के अन्य राज्यों से सैलानी हिमाचल आएंगे।