china

टिप्पणी:शुभ रात्रि भोज में आता है वैश्विक रस, चीनी बाज़ार में नहीं आया बदलाव

25 जनवरी को चीनी पंचांग के पहले महीने का पहला दिन है। यह दिन चीनियों के लिए सबसे महत्वपूर्ण त्योहार वसंतोत्सव की शुरुआत है। आम तौर पर चीनी लोग वसंतोत्सव की पूर्व संध्या में परिवारों के साथ मिलकर शुभ रात्रि भोज का आनंद उठाते हैं। ज्यादा से ज्यादा खाद्य पदार्थों के आयात से चीनी लोगों के शुभ रात्रि भोज में अंतरराष्ट्रीय तत्व भी बढ़ गए।

चीन की आबादी 1.4 अरब है। देश में मध्यम आय वाली समुदाय विश्व में सबसे बड़े पैमाने वाला है, जो लगातार बढ़ रहा है। उन लोगों की उपभोग क्षमता और उपभोग वस्तुओं की गुणवत्ता निरंतर उन्नत हो रही है। इसके साथ ही चीन ने सिलसिलेवार आयात संवर्धन कदम भी उठाया, जिससे अच्छी गुणवत्ता वाले विदेशी उत्पादों को चीन में आयात किए जाने में सुविधा मिली। वहीं सीमा-पार ई-कोमर्स के जोरदार विकास ने भी चीन में विभिन्न देशों की वस्तुओं के निर्यात को भी गति दी गई।

सिलसिलेवार वास्तविक कदमों के माध्यम से चीन अपना द्वार ज्यादा से ज्यादा खोल रहा है, जिससे जोखिमों और चुनौतियों के मुकाबले के लिए आर्थिक आधार मजबूत हो गया है। हालांकि इस वर्ष के वसंतोत्सव के दौरान न्यू कोरोनावायरस निमोनिया पैदा हुआ, लेकिन कठिन स्थिति अस्थाई है, चीनी बाज़ार में कोई परिवर्तन नहीं आएगा।   

वसंतोत्सव के दौरान चीनियों के भोजन की ज्यादा से ज्यादा वैश्विकता हो रही है, जिससे चीन के खुलेपन का विस्तार करने और विश्व के विभिन्न देशों के साथ विकसित फायदे को साझा करने का संकल्प जाहिर हुआ। यह वैश्विक आर्थिक वृद्धि को आगे बढ़ाने की प्रेरित शक्ति बन जाएगी। अधिक से अधिक देशों और नागरिकों को ज्यादा लाभ मिलेगा।
(साभार-चाइना रेडियो इंटरनेशनल, पेइचिंग)