barnala

बरनाला में फूंका गया चीन का झंडा, पूर्व सैनिकों ने कहा- 1962 वाला भारत समझने की न करें भूल

बरनालाः  चीन द्वारा 20 भारतीय जवानों को शहीद करने के विरोध में भूतपूर्व सैनिकों ने बरनाला में चीन का झंडा जला कर रोष प्रदर्शन किया। पूर्व सैनिकों ने कहा कि 1960 में भारत चीन समझौते को चीन तोड़ रहा है।  पूर्व सैनिकों ने चीन को चेतावनी देते हुए कहा कि चीन भारत को 1962 वाला भारत समझने की भूल न करे।

इस मौके पर चीन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए पूर्व सैनिकों गुरजिंदर सिधु, सोहन सिंह ने बताया कि 1960 में भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू और चीन के प्रधानमंत्री के बीच एक लिखित समझौता हुआ था जिसमें दोनों देशों की सीमाओं को नए सिरे से बनाया गया था और अब जब भारत उसी समझौते के तहत अपने इलाके में सड़क का निर्माण कर रहा है तो चीन इसका विरोध कर रहा है।उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू को कोसते हुए कहा कि तत्कालीन प्रधानमंत्री ने अगर 1960 में ही चीन के साथ लगती सीमा पर कंटीली बाड़ कर दी होती तो आज हमारे 20 सैनिक शहीद नहीं होते।