amritsar

कोरोना वायरस के डर से डॉक्टर ने दिया इस्तीफा, फोन भी किया स्विच ऑफ

अमृतसर: कोरोना वायरस को लेकर विश्व मेंकोहराम मचा हुआ है और सिविल सर्जन कार्यालय में नैशनल रूरल हैल्थ मिशन के तहत तैनात इंटीग्रेटेड डिसीज सर्वेलैंस प्रोग्राम अधिकारी डा. नवदीप कौर अपनी नौकरी से इस्तीफा दे दिया है। इस कारण सिविल सर्जन डा. प्रभदीप कौर जौहल के भी हाथ पैर फूल गए हैं क्योंकि कोरोना वायरस को लेकर सारा डाटा डा. नवदीप कौर के कम्प्यूटर में फीड है और उन्होंने इस्तीफा देने के बाद अपना फोन बंद कर लिया है। 

सारा डाटा डा. नवदीप कौर के पास सिविल सर्जन के फूले हाथ पैर : डा. प्रभदीप कौर की ओर से डा. नवदीप कौर को कहा गया था कि शाम को डिप्टी कमिश्नर की ओर से कोरोना वायरस को लेकर कुछ डिटेल मांगी गई है और इसे लेकर आलाधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रैंसिंग भी है इसलिए आप सारी डिटेल तैयार कर लीजिए। यह कहकर सिविल सर्जन डा. प्रभदीप कौर जौहल खुद दरबार साहिब, दुर्ग्याणा तीर्थ व अन्य स्थानों पर कोरोना वायरस को लेकर आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने के लिए चली गई। 

वह वापस आकर देखती हैं कि उनकी टेबल पर नवदीप कौर का इस्तीफा पड़ा हुआ है, जिसमें लिखा हुआ है उनके ऊपर काम का बोझ काफी बढ़ गया है, जिस कारण उनकी फैमिली लाइफ डिस्टर्ब हो रही है, उनका बच्चा भी बीमार है इसलिए अपनी नौकरी से इस्तीफा देती हैं और इसके लिए उनका एक माह का वेतन काट लिया जाए। इसके साथ ही उन्होंने अपने कमरे की चाबी अभी सिविल सर्जन के टेबल पर रख दी और फोन बंद करके चली गई।

किसी को मालूम नहीं डा. नवदीप के कम्प्यूटर का पासवर्ड

खास बात यह है कि कोरोना वायरस व अन्य बीमारियों का सारा डाटा डा. नवदीप कौर के कम्प्यूटर में है और उनके अलावा सिविल सर्जन तो क्या किसी को भी उनकी ईमेल आईडी का पासवर्ड तक मालूम नहीं है। इस कारण सिविल सर्जन कार्यालय में कोहराम मच गया।

बचकाना हरकत कर अपनी जिम्मेदारी से भागी डा. नवदीप : सिविल सर्जन

डा. जौहल ने कहा कि डा. नवदीप कौर ने एक गैर जिम्मेदाराना काम किया है। देश में कोरोना वायरस को लेकर कोहराम मचा हुआ है। ऐसे में अचानक नौकरी से इस्तीफा देकर अपनी जिम्मेदारी से भागना ठीक नहीं है। डा. नवदीप कौर ने अपना फोन स्विच आफ कर दिया है। अब उन्होंने दफ्तर के एक कर्मचारी को उनके घर पर भेजा है। साथ ही सारी जानकारी विभाग के आलाधिकारियों को देने के साथ डिप्टी कमिश्नर शिव दुलार सिंह ढिल्लों को भी दे दी है।