Digvijay Singh not allowed to meet rebel MLA

दिग्विजय सिंह को बागी विधायकों से मिलने की इजाजत नहीं, कर्नाटक HC से याचिका खारिज

मध्य प्रदेश में जारी सियासी जंग के बीच कांग्रेस सरकार को एक ओर झटका लगा है। कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह बीजेपी को खुली चुनौती दे रहे हैं। वह बेंगलुरु के रिजॉर्ट में रुके कांग्रेस के 16 बागी विधायकों से मुलाकात करने पर अड़े हैं और इसके लिए वह सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करेंगे, लेकिन उससे पहले उन्हें कर्नाटक हाई कोर्ट से झटका लगा है। कर्नाटक हाई कोर्ट ने दिग्विजय सिंह की याचिका को खारिज कर दिया है। दिग्विजय सिंह ने बागी विधायकों से मिलने की मांग की थी। मामले की अगली सुनवाई अब 26 मार्च को होगी।

दिग्विजय सिंह का कहना है कि वह राज्यसभा के सांसद हैं और उन्हें विधायकों से मिलने दिया जाए। कांग्रेस सांसद ने कहा कि मैंने फैसला लिया है कि मैं सुप्रीम कोर्ट और कर्नाटक हाई कोर्ट के फैसले का इंतजार करूंगा और फिर से एक बार धरने पर बैठने पर सोचूंगा। उन्होंने कहा कि मैंने फिलहाल भूख हड़ताल पर रहने का फैसला लिया और कोर्ट के फैसले के बाद ही आगे का फैसला लूंगा। बता दें कि कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह को बेंगलुरु में हिरासत में लिया गया था। वह बागी विधायकों से मिलने पहुंचे थे। हिरासत में लिए गए दिग्विजय सिंह ने पुलिस स्टेशन में ही भूख हड़ताल शुरू कर दी।