dgp dinkar gupta

करतारपुर कॉरिडोर पर दिए बयान पर बोले डीजीपी दिनकर गुप्ता, मेरे बयान का धार्मिक उद्देश्य नहीं

चंडीगढ़ः पुलिस डायरेक्टर जनरल दिनकर गुप्ता ने 20 फरवरी को चर्चा समारोह के दौरान उनकी तरफ से दिए बयान को गलत समझे जाने या जान-बूझकरगलत तरीके से पेश करने पर गहरा रोष प्रकट किया है। यहां जारी एक बयान में दिनकर गुप्ता ने कहा कि मैं श्री करतारपुर साहिब कॉरिडोर के उद्घाटन पर बहुत खुश हुआ जिसने मेरे जैसे उन लाखों श्रद्धालुओं की दशकों पुरानी इच्छाएं पूरी की हैं जो गुरु नानक देव जी और उनकी शिक्षाओं में विश्वास रखते हैं। यह और भी खुशी की बात है कि यह सौभाग्यशाली समय गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के समय आया। उन्होंने कहा कि राज्य का डी.जी.पी. होने के नाते, मैं भरोसा दिलाता हूं कि हम श्री करतारपुर साहिब के पवित्र स्थान पर निर्विघ्न पहुंच की सुविधा संबंधी काम करना जारी रखेंगे।

उन्होंने कहा कि मैंने सिर्फ भारत के प्रति दुश्मनी रखते बदनाम तत्वों और हर मौके का, यहां तक कि सबसे पवित्र स्थानों का भी नाजायज लाभ उठाने की कोशिश करने वालों के खिलाफ चौकस रहने के लिए कहा है जोकि देश की शान्ति और सांप्रदायिक सद्भावना को भंग करने के लिए तत्पर रहते हैं। दिनकर गुप्ता ने कहा कि इंडियन एक्सप्रैस के समारोह में उनकी टिप्पणियां सिर्फ पंजाब और भारत की सुरक्षा और रक्षा के साथ संबंधित थीं। इन टिप्पणियों में किसी धर्म या संप्रदाय का बिल्कुल कोई संकेत नहीं था परन्तु बस यह था कि पड़ोसी दुश्मन देश में स्थित कुछ देश विरोधी तत्व इस अवसर का दुरुपयोग कर सकते हैं और इसलिए हमें देश के हित में ऐसे संभावित खतरों के प्रति सचेत रहने की जरूरत है क्योंकि राज्य के लोगों की शान्ति और सुरक्षा का मुद्दा है जिनको पहले ही हमारे पड़ोसी दुश्मन द्वारा दहशतगर्दी को बढ़ाने वाले आतंकवाद के कारण पहले ही बहुत कुछ नुक्सान सहना पड़ा है। 

डी.जी.पी. ने कहा कि वह खुद नवंबर 2019 में श्री करतारपुर साहिब के दर्शन करने के लिए गए पहले यात्री जत्थे के मौके पर वहां उपस्थित थे जिसने डेरा बाबा नानक में सरहद पार की थी। उन्होंने कहा कि पिछले चार महीनों में पंजाब पुलिस ने 51,000 से अधिक श्रद्धालुओं की सहायता की है और आगे से भी हम इसको यकीनी बनाना जारी रखेंगे।