avdertisement
china

चीन के सफल अनुभव सीखने के योग्य हैं: गौडन गालिया

चीन स्थित विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रतिनिधि गौडन गालिया ने 7 अप्रैल को पेइचिंग में कहा कि विश्व में कोविड-19 के पुष्ट मामलों की संख्या अभी तक शिखर पर नहीं पहुंची है। आशा है विभिन्न देश अंतर्राष्ट्रीय सहयोग मजबूत करने, सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणाली में ज्यादा पूंजी लगाने आदि माध्यमों से विश्व में महामारी के कुप्रभाव को कम कर सकेंगे। उन के ख्याल से महामारी की रोकथाम में चीन ने बहुत सफल अनुभव प्राप्त किये हैं। जो अन्य देशों के लिये सीखने के योग्य हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जारी ताजा आंकड़ों के अनुसार मध्य यूरोप के समयानुसार 6 अप्रैल की रात तक विश्व में कोविड-19 के पुष्ट मामलों की कुल संख्या 12.1 लाख तक पहुंच चुकी है। चीनी राज्य परिषद के अधीन महामारी की रोकथाम व नियंत्रण तंत्र द्वारा 7 अप्रैल को पेइचिंग में आयोजित एक न्यूज़ ब्रीफिंग में चीन स्थित विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रतिनिधि गौडन गालिया ने कहा कि सरकार को चीन की तरह सक्रिय रूप से पुष्ट मामलों व घनिष्ट संपर्क रखने वालों की खोज करनी चाहिये। साथ ही सभा के आयोजन व लोगों की गतिशीलता पर प्रतिबंध लगाने जैसे कदम भी उठाने चाहिये। उनके अलावा और दो काम, जो चीन ने किया है, अब अन्य देश सक्रिय रूप से कर रहे हैं। एक है डिजिटल चिकित्सा, दूसरा है जनता की एकता। गालिया ने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से एक साथ कारगर टीका व दवा का अध्ययन करने की अपील भी की। 
(साभार-चाइना रेडियो इंटरनेशनल, पेइचिंग)