Himachal News

मुख्य सचिव ने राज्यपाल के साथ किसानों-बागवानों की समस्याओं पर की चर्चा

शिमला: हिमाचल के किसानों को कर्फ्यू व लॉकडाऊन के बीच अपने उत्पादों को मंडियों तक लाने की छूट रहेगी। किसानों व बागवानों को मंडियों तक उत्पाद पहुंचाने के लिए किसी भी प्रकार के पास की आवश्यकता नहीं होगी। मुख्य सचिव अनिल खाची ने राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय के साथ बैठक में यह जानकारी दी। 

मुख्य सचिव ने कहा कि सरकार ने किसानों व बागवानों को मौजूदा प्रतिबंध में पूर्ण रूप से छूट दी गई है। उन्होंने इस मौके पर राज्यपाल को कोरोना महामारी से संबंधित हिमाचल में किए गए प्रबंधों और वर्तमान जानकारी से अवगत कराया गया। बैठक में राज्यपाल ने कहा कि जल्द ही प्रदेश में सेब सीजन शुरू होने वाला है। बागवानों को मंडियों में उनके उत्पाद का उचित दाम मिल सके, इसकी व्यवस्था की जानी चाहिए। 

राज्यपाल ने कहा कि आवश्यकतानुसार विधेयक की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने में तेजी लाई जा सकती है। स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव आरडी धीमान ने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं को सुदृढ़ बनाया गया है। उन्होंने कहा कि फ्लू जैसे लक्षण के सभी व्यक्तियों के नमूने एकत्रित किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में आइसोलेशन सुविधा पर्याप्त है और कुछ रिजर्व में रखे गए हैं। हॉटस्पॉट क्षेत्रों को पूरी तरह बंद कर दिया गया है और वहां जरूरी सामान की आपूर्ति सुनिश्चित बनाई जा रही है। उन्होंने कहा कि पिछले कल हुए सभी मामलों की जांच नैगेटिव आई है। राज्यपाल ने प्रदेश सरकार द्वारा किए गए प्रबंधों पर संतोष व्यक्त करते हुए भावी रणनीति पर कार्य करने की आवश्यकता पर भी बल दिया।