Maha Shivaratri

इस महाशिवरात्रि पर करें भगवान शिव के इन मंत्रों का जाप, सभी कष्टों से मिलेगी मुक्ति

हर साल महाशिवरात्रि का पर्व बड़े धूम-धाम से मनाया जाता है। बता दें इस दिन भगवान शिवजी और माता पार्वती का विवाह हुआ था। इस साल यह पर्व 21 फरवरी के दिन पड़ रहा है। महाशिवरात्रि के दिन भगवान शंकर श्रद्धापूर्वक की गई थोड़ी सी पूजा से भी प्रसन्न हो जाते हैं और अपने भक्त की सभी भौतिक आध्यात्मिक कामनाएं पूरी कर देते हैं। अगर किसी के जीवन में कोई परेशानी चल रही हो तो महाशिवरात्रि के दिन ये उपाय करते हुए इन मंत्रों में से किसी भी एक मंत्र का जप कर लें।

उपाय-
- महाशिवरात्रि के दिन मिट्टी या अन्य धातु के शिवलिंग को घर में (छोटे रूप में) या किसी मंदिर में प्राण प्रतिष्ठित कर स्थापित करने से व्यापार में वृद्धि और नौकरी में तरक्की होने लगेगी।

- महाशिवरात्रि के दिन स्फटिक के शिवलिंग को शुद्धजल, गंगाजल, दूध, दही, घी, शहद और शक्कर से अभिषेक करने, धूप-दीप जलाकर शिव मंत्रों का जप करने से समस्त बाधाओं का नाश होता है।

- महाशिवरात्रि के दिन भोलेनाथ के साथ माता पार्वती का षोडषोपचार पूजन करने पर घर परिवार में धन-धान्य की कभी भी कमी नहीं रहती।

- महाशिवरात्रि के दिन एक साथ शिव परिवार का पूजन करने से जीवन में किसी भी चीज का अभाव नहीं रहता।

- महाशिवरात्रि के दिन प्राणघातक बीमारी से प्राणों की रक्षा के लिए महामृत्युंजय मंत्र का जप रुद्राक्ष की माला से 108 बार करने पर पीड़ित जातक को शीघ्र लाभ होने लगता है।

महामृत्युंजय बीज मंत्र-
- ॐ हौं जूं सः ॐ भूर्भुवः स्वः ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम् उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात् ॐ स्वः भुवः भूः ॐ सः जूं हौं ॐ।।

- ॐ हे गौरि शंकरार्धांगि यथा त्वं शंकरप्रिया।
तथा मां कुरु कल्याणी कान्तकांता सुदुर्लभाम।।

- ॐ ह्रीं नमः शिवाय ह्रीं ॐ ।।

- ॐ नमः शिवाय।।

- ॐ साम्ब सदा शिवाय नम:।।

- ॐ ऐं ह्रीं शिव गौरीमय ह्रीं ऐं ॐ।।

- ॐ श्रीं ऐं ॐ।।