Kuch Bhi Ho Sakta Hai, Anupam Kher, अनुपम खेर

अनुपम की इच्छा उनके नाटक ‘कुछ भी हो सकता है’ से लोगों को मिले उम्मीद, क्योंकि...

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता अनुपम खेर ने हाल ही में अपने आत्मकथात्मक नाटक को अपने नए वेबसाइट पर जारी किया है, जिसका शीर्षक ‘कुछ भी हो सकता है’ है। अनुपम का मानना है कि यह नाटक इस तनावपूर्ण घड़ी में लोगों को कुछ उम्मीद देगा। नाटक के निर्देशक फिरोज अब्बास खान है। इसमें उनकी जिंदगी की असफलताओं, जीत और जिंदगी में मिली सीख को दशार्या गया है।

अनुपम ने बताया, ‘‘लगभग एक महीने पहले मुझे इस बात का एहसास हुआ कि मैं इसे पिछले 15 सालों से करता आ रहा हूं। यह मेरी असफलताओं, परेशानियों के बारे में है, यह एक आत्मकथा है। मैं उन पुरानी बातों को आज सोचकर हंसता हूं। हमने कुछ साल पहले पूरे नाटक को शूट किया था, ताकि इसके बारे में एक रिकॉर्ड रखा जा सके। इसे पेशेवर लोगों द्वारा एचडी पर किया गया है। महामारी की इस घड़ी में मुझे एहसास हुआ कि यह आशावाद और उम्मीद पर आधारित एक नाटक है। यह कभी हार न मानने की बात करता है।’’

वह आगे कहते हैं, ‘‘और कुछ इस तरह से मैं अपनी जिंदगी को देखता हूं और इसी तरह से मैं अपनी जिंदगी में कई सारी चीजें कर सका क्योंकि बहुत कम उम्र में मेरे पिता जी ने मुझे बताया था ‘असफलता एक घटना है, कोई इंसान नहीं।’ इसलिए यह पूरी जिंदगी मेरे साथ रहा और मुझे वाकई में अफलताओं को लेकर कभी कोई फिक्र नहीं रही। मैं एक आशावादी इंसान हूं।’’ यह हाल ही में लॉन्च किए गए उनके वेबसाइट द अनुपम खेर डॉट कॉम पर उपलब्ध है।