Amalaki Ekadasi 2020

Amalaki Ekadasi 2020: आज एकादशी पर ऐसे करें भगवान विष्णु जी की पूजा और भूल से भी ना करें ये गलतियां

हिन्दू धर्म में हर व्रत और शुभ मुहूर्त का अपना-अपना खास महत्व होता है। जिस दिन सभी विधिवत रुप से पूजा कर हर संकट से मुक्त होते हैं। हर साल फाल्गुन मास की शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को अमालकी एकादशी का व्रत किया जाता है, जिसे रंगभरी एकादशी भी कहते हैं। आज इस एकादशी पर जगत के पालनहार भगवान विष्णु जी की पूजा विधिवत रुप से करें। आइए जानते हैं अमालकी एकादशी पर कैसे करें पूजा और व्रत-विधि...

एकादशी पर भूल से भी ना करें ये काम-
- आज अमालकी एकादशी पर भूल से चावल का सेवन ना करें। मान्यता है कि एकादशी के दिन चावल का सेवन करने से मनुष्य रेंगने वाले जीव की योनि में जन्म लेता है इसलिए इस दिन भूलकर भी चावल का सेवन न करें।

- एकादशी का व्रत विशेषकर भगवान विष्णु जी की आराधना में किया जाता है और यह दिन भगवान विष्णु को समर्पित होता है, इसलिए आज के दिन अपने खान-पान और व्यवहार में संयम और सात्विकता का पालन करना चाहिए।

- एकादशी के दिन ब्रह्मचार्य का पालन विशेषतौर पर करना चाहिए। इसके साथ ही बेवजह और बेफालतू के लड़ाई-झगड़ों से भी दूर रहना चाहिए। 

इसके साथ ही एकादशी के दिन सुबह जल्दी उठना चाहिए और संध्या के समय नही सोना चाहिए। इसके अलावा इस दिन न तो क्रोध करना चाहिए और न ही झूठ बोलना चाहिए।

एकादशी के दिन करें ये शुभ कार्य-
- एकादशी व्रत के दिन दान अवश्य करना चाहिए।
- एकादशी व्रत पर अगर संभव हो तो गंगा स्नान करना शुभ होता है।
- विवाह के लिए एकादशी के दिन केसर, केला या हल्दी का दान करें।