Corona Virus

रामनगर में प्रशासन ने 3 दुकानों को किया सील

रामनगर : कोरोना वायरस से बचने के लिए शुरू किए गए लॉकडाऊन के दौरान कुछ दुकानदार सरकारी आदेशों का पालन नहीं कर रहे थे, जिसके चलते आज रामनगर के एस.डी.एम. नरेश कुमार, एस.डी.पी.ओ. जी.आर. भारद्वाज तथा तहसीलदार ने साथ मिलकर रामनगर बाजार का औचक दौरा किया। इस दौरान उन्होंने रामनगर कस्बे की तीन दुकानों को सील किया और उनके खिलाफ आगे की कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी है। वहीं रामनगर तहसील प्रशासन के अधिकारी कोरोना वायरस को लेकर काफी सतर्क दिखाई दे रहे हैं। हाल ही में कस्बे के वार्ड नंबर 10 से एक व्यक्ति का कोरोना टैस्ट में पाजीटिव आने के बाद से ही समूचे रामनगर कस्बे में दहशत का माहौल बन गया था। इसके बाद से ही रामनगर कस्बे में किसी भी दुकानों को खोले जाने की अनुमति नहीं है। इसी कड़ी में रामनगर कस्बे की पुलिस जमीनी स्तर पर जाकर काफी अच्छा काम कर रही है। रामनगर पुलिस के एस.डी.पी.ओ जी.आर. भारद्वाज तथा थाना प्रभारी जसविंद्र सिंह अब उन लोगों का रिकार्ड जुटाने में लगे हुए हैं, जो लोग 1 मार्च के बाद उधमपुर के बाहर, विदेश या फिर लेह इलाके से वापस लौटे थे।

 रामनगर पुलिस ने सोमवार को 10 युवकों को रामनगर उपजिला अस्पताल लाया, यह सभी हाल ही में लेह से वापस लौटे थे। इस सभी युवकों को 14 दिनों के उपचार के लिए जिला अस्पताल उधमपुर भेज दिया है। इसके अलावा कस्बे के 4 अन्य लोगों को भी उधमपुर अस्पताल भेजा गया है, जो लोग कस्बे के वार्ड नंबर 10 में पाजीटिव आए व्यक्ति के संपर्क में आए थे। हांलाकि शुक्र वार को इसी व्यक्ति के संपर्क में आए 18 लोगों को जिला अस्पताल उधमपुर भेजा गया था, जिनका टैस्ट नैगेटिव आया है। रामनगर के एस.डी.एम. नरेश कुमार तथा तहसीलदार श्रीनाथ सुमन भी काफी सतर्क हो गए हैं, वह स्वयं रामनगर कस्बे में घूमकर लोगों को कोरोना वायरस से बचने के लिए अपने आप को सुरक्षित रखने की सलाह दे रहे हैं, वहीं लॉकडाऊन के चलते समूचा रामनगर पूरी तरह से बंद है ओर जो कुछ दुकानदार नियमों का उल्लंघन कर रहे थे उनकी दुकानों को सील भी किया गया।