China

चीन के हेलोंगच्यांग प्रांत में गांववासी गुलाब से समृद्ध जीवन की प्राप्ति

पूर्वोत्तर चीन के हेलोंगच्यांग प्रांत में थोंगच्यांग शहर चीन में एक बहुत महत्वपूर्ण सीमावर्ती शहर है। इधर के सालों में स्थानीय लोग गुलाब फूल के रोपण और प्रोसेसिंग के माध्यम से गरीबी मिटाकर समृद्ध और खुशहाल जीवन की ओर आगे बढ़ रहे हैं।
थोंगच्यांग शहर में हेचे जातीय जिले में वेइमिंग गांव बसा है, जहां गांववासी गुलाब रोपण से पैसे कमाते हैं। थंग शील्यांग नाम का एक गांववासी अपने अन्य साथियों के साथ गुलाब के खेत में फूल तोड़ने का काम करता है। उसका कहना है कि वह रोजाना फूल तोड़ने तड़के चार बजे खेत जाता है, और सुबह भर तक करीब 35 से 40 किलो फूल तोड़ लेता है। एक किलो फूल की कीमत चार युआन होती है, इस तरह हरेक लोग एक दिन में 140 युआन की कमाई करते हैं।    

थंग शील्यांग का यह भी कहना है कि जून महीना फूल उत्पादन का ख़ास मौसम है, गुलाब फूल से चाय बनाई जाती है। जबकि जुलाई माह में वह फूल पत्ती से गुलाब फूल की चटनी बनाता है, दोनों की बिक्री बहुत अच्छी होती है। आम तौर पर गांववासी फूल तोड़ने, प्रोसेसिंग करने से एक दिन में 100 से अधिक युआन की कमाई करते हैं। ऐसा कहा जा सकता है कि वे फूलों की सुगंध में डूबे रहकर आजीविका कमाते हैं।   

थंग शील्यांग ल्य्वीनोंग सहकारिता में कार्यरत है, इस कंपनी के पास करीब 1067 हेक्टेयर खेत है। गुलाब के अलावा, सोयाबीन और मकई का रोपण और प्रोसेसिंग भी किया जाता है। इस सहकारिता में कुल 500 सदस्य हैं, जो सभी स्थानीय गांववासी हैं। वे जमीन या पूंजी आदि माध्यम से सहकारिता में शेयरहोल्डर बनते हैं, प्रति साल शेयर के अनुसार लाभांश कमाते हैं। इसके अलावा, गांववासी खेती में खरपतवार हटाना, गुलाब की डाली काटना, खेत प्रबंधन करना, फूल तोड़ना आदि से गांववासियों की आय होती है। 

गांववासी थंग शील्यांग के मुताबिक, वह खेत लेकर सहकारिता में शेयरहोल्डर बन चुका है, एक साल में इससे उसे 30 हज़ार युआन का लाभांश मिलता है। इसके अलावा, सहकारिता में वह चार महीने काम करने से 20 युआन की आय हो जाती है। बाकी समय वह अन्य काम करता है। उसने कहा कि इस प्रकार के जीवन से उसे और अन्य गांववासियों को बहुत संतुष्टि मिलती है। 

थोगच्यांग एक नदी तटीय शहर है, नदी के दूसरे तट पर रूस है, निकट भविष्य में इस शहर और रूस को जोड़ने वाले नदी-पार रेलवे पुल की सेवा शुरु होगी। रूस में प्याज, आलू, टमाटर और ककड़ी का अभाव है, रेलवे पुल की सेवा शुरु होने के बाद शहर में सब्जी निर्यात से स्थानीय नागरिकों को और ज्यादा लाभ मिल सकेगा।  
( साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग )